भारत-ऑस्ट्रेलिया टी-20 सीरीज : आठवीं श्रृंखला जीतने उतरेगी टीम इंडिया

जागरूक टाइम्स 625 Nov 20, 2018

ब्रिसबेन । भारतीय टीम अपने ऑस्ट्रेलिया दौरे की शुरुआत में बुधवार को तीन मैचों की सीरीज का पहला पहला टी20 क्रिकेट मैच खेलेगी। विराट कोहली की कप्तानी में उतरने वाली भारतीय टीम का लक्ष्य इसमें जीत से शुरुआत करना रहेगा। पिछले कुछ समय से भारतीय टीम शानदार प्रदर्शन करती आ रही है, वहीं मेजबान आस्ट्रेलियाई टीम खराब प्रदर्शन से दबाव में है।

पूर्व कप्तान स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर के बाहर होने से टीम के प्रदर्शन में गिरावट आई है और उसे इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा है। अब स्मिथ, वार्नर और कैमरन बेनक्रोफ्ट पर प्रतिबंध बरकरार रहने से भी उसे झटका लगा है। भारतीय टीम ने नवंबर 2017 से अब तक सातों टी-20 श्रृंखलाएं जीती है। इस बार उसका लक्ष्य आठवीं श्रृंखला जीतना रहेगा।भारत ने इंग्लैंड दौरें में भी टी20 श्रृंखला जीती थी। इसके बाद वेस्टइंडीज के साथ घरेलू टी20 श्रृंखला 3-0 से जीती।
  
आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले आस्ट्रेलिया दौरे पर भारत ने टी20 श्रृंखला 3-0 से जीती थी जिससे खिलाडिय़ों का आत्मविश्वास काफी बढ़ा होगा। दोनों पर लगे प्रतिबंध के बाद से आस्ट्रेलिया एक भी टी20 श्रृंखला नहीं जीत सका है। उसे जून में इंग्लैंड ने हराया जबकि जिम्बाब्वे में टी-20 श्रृंखला के फाइनल में पाकिस्तान ने हराया। इसके बाद यूएई में पाकिस्तान से द्विपक्षीय श्रृंखला 3-0 से हार गया फिर दक्षिण अफ्रीका ने बारिश से प्रभावित मैच में उसे हराया। अब देखना यह है कि अपनी जमीन पर आस्ट्रेलियाई टीम जीत हासिल कर पाती है या नहीं।

भारतीय टीम में बल्लेबाजी की जिम्मेदारी कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा के अलावा युवाओं पर होगी। वहीं आरोन फिंच की कप्तानी वाली आस्ट्रेलियाई टीम का लक्ष्य इन दोनो पर रोक लगा कर भारतीय बल्लेबाजी पर दबाव बनाना रहेगा। भारतीय टीम के पास हार्दिक पंड्या जैसा ऑलराउंडर है। विकेटकीपर के रुप में युवा ऋषभ पंत से भी कई उम्मीदें हैं। तेज गेंदबाजी की बात करें तो भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और खलील अहमद उपयोगी साबित होंगे।

स्पिन की जिम्मेदारी कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल पर रहेगी। मेजबान आस्ट्रेलियाई टीम की तेज गेंदबाजी तो मजबूत है पर उसके पास ग्लेन मैक्सवेल के रुप में एक ही स्पिनर है, ऐसे में उसे फिरकी गेंदबाज की कमी खलेगी क्योंकि हाल के विदेशी दौरों पर भारतीय बल्लेबाजों को स्पिनरों के खिलाफ संघर्ष करते देखा गया था।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं-
भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, केएल राहुल, दिनेश कार्तिक, ऋषभ पंत, कृणाल पंड्या, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद।

आस्ट्रेलिया : आरोन फिंच (कप्तान), एस्टोन एकर, जैसन बेहरेनडोर्फ, एलेक्स कारे, नाथन कूल्टर नाइल, क्रिस लिन, बेन मैकडरमोट, ग्लेन मैक्सवेल, डीआर्सी शार्ट, बिली स्टानलेक, मार्कस स्टोइनिस, एंड्रयू टाय, एडम जाम्पा।

Leave a comment