दीपा से एशियाई खेलों में स्वर्ण की उम्मीदें

जागरूक टाइम्स 113 Aug 14, 2018

भारतीय जिम्नास्ट दीपा करमाकर की नजरें शुक्रवार से इंडोनेशिया में शुरु हो रहे एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने पर लगी हैं। भारत को आज तक महिला वर्ग में इस खेल में कोई पदक नहीं मिल पाया है। दीपा को पदक का दावेदार उनके बेहतरीन प्रदर्शन की वजह से माना जा रहा है। दीपा ने तुर्की के मर्सिन शहर में आयोजित एफआईजी आर्टिस्टिक जिम्नैस्टिक विश्व चैलेंज कप में स्वर्ण पदक जीता था। यह विश्व चैलेंज कप में दीपा का पहला पदक था।

रियो ओलिंपिक के बाद दीपा चोटिल हो गई थीं। उन्हें कॉमनवेल्थ खेलों तक वापसी की उम्मीद थी लेकिन चोट से उबरने में उन्हें काफी समय लगा और वह गोल्ड कोस्ट में आयोजित इवेंट तक फिट नहीं हो सकीं। इसके बाद उन्हें इस साल होने जा रहे एशियाई खेलों के लिए 10 सदस्यीय भारतीय जिम्नैस्टिक टीम में शामिल किया गया था। 

यह भी पढ़े : Big breaking : जालोर में प्रेमी जोड़े ने रेल से कटकर जान दी

2016 रियो ओलिंपिक के वॉल्ट इवेंट में भी दीपा ने चौथा स्थान हासिल किया था। ओलिंपिक में भारत की तरफ से दीपा पहली महिला जिम्नैस्ट और 52 सालों में पहली भारतीय जिम्नैस्ट थीं। साल 2015 में दीपा ने एशियन जिम्नैस्टिक चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था। यह भी भारत के इतिहास में पहली बार हुआ था। 2011 में दीपा करमाकर ने नेशनल गेम्स ऑफ इंडिया में त्रिपुरा का प्रतिनिधित्व किया था और अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत उन्होंने फ्लोर, वॉल्ट, बैलेंस बीम और अनइवेन बार्स चारों ही इवेंट्स में स्वर्ण पदक जीता था।

ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे ...

Leave a comment