बॉन्ड बेचकर अपना कर्ज चुकाएगी एयर इंडिया

जागरूक टाइम्स 340 Aug 6, 2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। खस्ताहाल एयर इंडिया कर्ज चुकाने के लिए बॉन्ड बेचकर 7,000 करोड़ जुटा सकती है। इस मामले से सीधे तौर पर जुड़े दो सूत्रों ने जानकारी दी है। एयर इंडिया ऐसेट होल्डिंग्स लिमिटेड बॉन्ड इश्यू लाएगी, जो एक स्पेशल परपज वीइकल है।एयर इंडिया का 29,464 करोड़ का कर्ज इस कंपनी को ट्रांसफर किया जा रहा है। महंगे कर्ज को सस्ते कर्ज से बदलने पर एयर इंडिया में निवेशकों की दिलचस्पी बढ़ सकती है। मोदी सरकार ने अक्टूबर से बेचने की प्रक्रिया शुरू करने की योजना बनाई है। पिछली बार कर्ज सहित एयर इंडिया को सरकार ने बेचने की कोशिश की थी, लेकिन तब एयर इंडिया को एक भी बोली नहीं मिली थी।

एयर इंडिया पर कुल 55 हजार करोड़ का कर्ज है। होल्डिंग कंपनी को 29,464 करोड़ का कर्ज ट्रांसफर करने से बीमार एयरलाइन कंपनी की ब्याज देनदारी में 2,700 करोड़ की कमी आएगी। 7,000 करोड़ के इस इश्यू के साथ कंपनी की योजना दो बार में और 22 हजार करोड़ जुटाने की है। पहले सीरीज के बॉन्ड पर मूलधन के साथ ब्याज का भुगतान भी सरकार करेगी। योजना के मुताबिक, एआईएएचएल पहले तीन साल के बॉन्ड जारी करेगी, जिस पर 7-7.25 प्रतिशत का ब्याज दिया जा सकता है। यह दावा डीलरों ने किया है। रेटिंग कंपनी ने प्रस्तावित बॉन्ड को स्टेबल आउटलुक के साथ ट्रिपल ए रेटिंग दी है। बॉन्ड इश्यू करने वाली एआईएएचएल एक और रेटिंग की प्रक्रिया शुरू करने जा रही है।

इकरा ने पिछले हफ्ते एक नोट में लिखा था, 7,000 करोड़ के बॉन्ड इश्यू में सरकार की भूमिका को देखकर इसकी रेटिंग तय की गई है। रेटिंग कंपनी ने बताया कि 29,464 करोड़ के कर्ज को एयर इंडिया लिमिटेड से एआईएएचएल को ट्रांसफर करने की योजना है। इस रेटिंग में यह माना गया है कि एआईएएचएल की तरफ से जारी किए जाने वाले बॉन्ड पर ब्याज का भुगतान सरकार करेगी या वह इस पर स्पष्ट गारंटी देगी। ये बॉन्ड इस हफ्ते सब्सक्रिप्शन के लिए खुल सकते हैं। इन्हें स्टॉक एक्सचेंजों के इलेक्ट्रॉनिक बिडिंग प्लेटफॉर्म्स के जरिए बेचा जाएगा। दूसरा बॉन्ड इश्यू अगले एक महीने में आ सकता है। एआईएएचएल सरकार की गारंटी के साथ 15,064 करोड़ जुटाएगी। माना जा रहा है कि ये बॉन्ड 10 साल की मच्योरिटी वाले हो सकते है।


Leave a comment