देश के अपेक्षा 5 गुना अधिक हुआ सांसदों का आर्थिक विकास, 41 फीसदी बढ़ी संपत्ति

जागरूक टाइम्स 200 May 14, 2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। पिछले ५ सालों में देश की आर्थिक विकास दर अधिकतम ८.२ फीसदी रही है, जबकि देश के सांसदों का खूब आर्थिक विकास हुआ है। ५ सालों में सांसदों की संपत्ति ४१ फीसदी बढ़ी है। इसमें भाजपा और कांग्रेस समेत सभी दलों के सांसद शामिल हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉम्र्स एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, लोकसभा चुनाव लड़ रहे ३३८ में से ३३५ मौजूदा सांसदों की औसत संपत्ति २३.६५ करोड़ रुपये है।

साल २०१४ में इन मौजूदा सांसदों की संपत्ति १६.७९ करोड़ रुपये थी। यानि कि पांच साल में सांसदों की औसत संपत्ति ६.८६ करोड़ रुपये बढ़ी है। एडीआर ने १७वीं लोकसभा चुनाव के ८,०४९ में से ७९२८ उम्मीदवारों के हलफनामों का विश्लेषण किया है। इनमें २९ फीसदी की संपत्ति एक करोड़ से ज्यादा है। भाजपा के ७९ फीसदी, कांग्रेस के ७१ फीसदी उम्मीदवार करोड़पति हैं। बसपा के १७ और सपा के आठ प्रत्याशी करोड़पति हैं।

- १५०० दागी नेताओं को मिला टिकट
वहीं, दागी उम्मीदवारों की बात करें, तो इस लोकसभा चुनाव में १५०० यानि कि १९ फीसदी उम्मीदवार दागी हैं। साल २०१४ में १४०४(१७ फीसदी) उम्मीदवार दागी थे। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, १०७० उम्मीदवारों पर दुष्कर्म, हत्या, अपहरण, महिलाओं के खिलाफ अपराध जैसे गंभीर केस दर्ज हैं। साल २०१४ में ८२०५ उम्मीदवारों में ९०८ यानि कि ११ फीसदी उम्मीदवारों पर ऐसे मामले दर्ज थे। इस बार भाजपा ने १७५ दागी उम्मीदवारों को टिकट दिया है। कांग्रेस ने १६४ दागी उम्मीदवारों को जबकि बसपा ने ८५ दागी उम्मीदवारों को टिकट दिया है।

Leave a comment