नतीजों का असर: कांग्रेस में इस्तीफों की झड़ी, कुछ कतार में

जागरूक टाइम्स 800 May 24, 2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद अब इस्तीफों की झड़ी लगती दिख रही है। उत्तर प्रदेश की ८० सीटों में से महज एक सीट पर सिमटने वाली ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी' के अगली कतार के नेता सकते में हैं। उत्तर प्रदेश में पार्टी की कमान संभालने वाले राज बब्बर ने राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को इस्तीफा भेज दिया है। इससे पहले ट्वीट के जरिए भी उनकी निराशा साफ तौर पर झलकी। कभी सपा के टिकट पर जीतकर संसद पहुंचने वाले राज बब्बर लंबे समय से कांग्रेस में हैं। प्रदेश की जिम्मेदारी तो संभालते हैं लेकिन खुद अपनी सीट, फतेहपुर सीकरी से हार गए। वो भी कोई छोटे-मोटे अंतर से नहीं। पूरे ४ लाख ९५ हजार वोट के अंतर से।

- स्मृति का हुआ अमेठी
३९ साल बाद गांधी परिवार का कोई नेता अमेठी से बाहर हुआ है। भाजपा की स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष को ५५ हजार वोटों से न भूलने वाली शिकस्त दी है। इसके बाद अमेठी जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपना इस्तीफा राहुल गांधी को भेज दिया है। ओडिशा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने भी हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया है।

पटनायक ने कहा कि मैंने भी चुनाव लड़ा था। पार्टी ने मुझे जिम्मेदारी सौंपी थी। मैं हार की नैतिक जिम्मेदारी लेता हूं और पद से इस्तीफा देता हूं। मैंने कांग्रेस अध्यक्ष (राहुल गांधी) को सूचना दी है। इससे पहले गुरुवार शाम ये खबर भी आई कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस्तीफे की पेशकश की है। राहुल की प्रेस कॉन्फ्रेंस के ठीक बाद जब इस तरह की बातें फैली तो रणदीप सुरजेवाला बचाव में उतरे। उन्होंने इस्तीफे की खबरों को बेबुनियाद बताया है।



Leave a comment