पीडीपी टूटी तो घाटी में पैदा होंगे और सलाउद्दीन : महबूबा

जागरूक टाइम्स 251 Jul 13, 2018

श्रीनगर । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सहयोग से तीन साल तक जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री रहीं महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार को अप्रत्यक्ष चेतावनी दी है। मुफ्ती ने अपनी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) में हो रही फूट के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि अगर दिल्ली ने पीडीपी को तोड़ने की कोशिशें जारी रखीं तो कश्मीर में कई और सलाउद्दीन पैदा होंगे।

उन्होंने कहा कि हर घर में दिक्कत होती है, लेकिन अगर दिल्ली ने 1987 की तरह यहां के आवाम के वोट के ऊपर डाका डाला और तोड़-फोड़ की कोशिश की तो मैं समझती हूं कि 1987 में जैसे एक सलाउद्दीन और एक यासीन मलिक ने जन्म लिया, उसी तरह अनेक लोगों का जन्म होगा। उन्होंने चेतावनी दी कि इस बार पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की गई तो स्थिति उससे भी कहीं ज्यादा जटिल हो जाएगी।

महबूबा के इस बयान को नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने हताशा भरा बताया है। हाल ही में पीडीपी के छह विधायकों ने बागवत की है। सभी नाराज विधायकों का कहना है कि पीडीपी 'फैमिली डेमोक्रेटिक पार्टी' बन चुकी है। बागी विधायकों में जावेद बेग, यासिर रेशी, अब्दुल मजीद, इमरान अंसारी, अबीद हुसैन अंसारी और मोहम्मद अब्बास वानी शामिल हैं। पिछले महीने 19 जून को बीजेपी ने पीडीपी पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए खुद को गठबंधन की सरकार से अलग कर लिया था।

उल्लेखनीय है कि सलाउद्दीन घाटी में आतंक आग फैलाने के लिए जिम्मेदार माना जाता है। वह फिलहाल पाकिस्तान में शरण लिए हुए है। अमेरिका ने भी सलाउद्दीन को ग्लोबल आतंकी घोषित किया है। वह पिछले काफी समय से पाकिस्तान में रह रहा है। कुछ माह पहले उसने कहा था कि 'कश्मीर को भारतीय सेना का कब्रगाह बना देगा। सलाउद्दीन ने 1987 विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़ा लेकिन वह हार गया। उसका आरोप लगाया कि उसे धोखा दिया गया।

इसके बाद उसने बंदूक उठा ली। उसने अपना नाम पांच नवंबर 1990 को यूसुफ शाह से बदलकर सैयद सलाउद्दीन कर लिया। तब उसने कहा था हम शांतिपूर्ण तरीके से विधानसभा में जाना चाहते थे, लेकिन हमें ऐसा नहीं करने दिया गया, हमें गिरफ्तार किया गया और हमारी आवाज को दबाने की कोशिश की गई। कश्मीर मुद्दे के लिए हथियार उठाने के अलावा हमारे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है। हथियार उठाने के बाद उसने घाटी में कई बड़ी आतंकी वारदातों को अंजाम दिया है।

Leave a comment