ड्रेनेज लाईन के चेंबर में डूबने से पिता पुत्र की मौत

जागरूक टाइम्स 205 Sep 1, 2018

भिवंडी । मुंबई से सटे भिवंडी शहर के अवचितपाडा स्थित भिवंडी-निजामपुर महानगरपालिका के ड्रेनेज पाइपलाइन के चेंबर में उतरने वाले पिता-पुत्र की पानी में डूबने से मौत होने की सनसनीखेज घटना कल सुबह घटित हुई है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार चंद्रकांत जयराम राठोड (५० निवासी, फातिमानगर) व रमेश चंद्रकांत राठोड (१९) नामक दोनों पिता-पुत्र की मौत हो गई।

यह दोनों अवचितपाडा क्षेत्र में इम्तियाज इस्माईल मोमिन के तबेले की भैंस को धोने का काम कई वर्षों से कर रहे थे। तबेला मालिक ने पानी के लिए मनपा का ड्रेनेज लाईन के चेंबर में अवैध रूप से सबमर्सिबल मोटर लगाकर तबेले में चोरी से पानी आपूर्ति कर रहा था। भैंस का दूध निकालने से पूर्व उन्हें धोने के लिए पानी की जरूरत पडती है इसलिए चंद्र्कांत राठोड ने मोटर चालू कर पानी लेने का प्रयास किया परंतु मोटर चालू नहीं हो रहा था।

दोनों पिता-पुत्र चेंबर के पास आए व मोटर में कुछ गड़बड़ी देखने के लिए रमेश भीतर उतरा था। परंतु जब काफी देर बाद भी रमेश ड्रेनेज लाईन के चेंबर से पुन: ऊपर नहीं आया तो उसे देखने के लिए उसके पिता चंद्रकांत भी उसी चेंबर में उतर गए। परंतु चेंबर में उतरे दोनों पिता-पुत्र ड्रेनेज के पानी में फंसे रहे और उनकी पानी में ही दम घुटने से मौत हो गई। घटनास्थल पर अग्निशमन दल के जवानों ने पहुंच कर दोनों पिता पुत्र को बेशुद्ध अवस्था में ड्रेनेज लाईन के चेंबर से बाहर निकाला और उन्हें स्व.इंदिरा गांधी उप जिला अस्पताल में उपचार के लिए भेज दिया गया।

परंतु उपचार के पूर्व ही इन दोनों की मृत्यु होने की पुष्टि ड्युटी पर तैनात डॉ.जयश्री डोंगरे ने घोषित की। बताया गया है कि अग्निशमन दल के जवान जब दोनों पिता-पुत्र को चेंबर से बाहर निकालने के लिए ड्रेनेज लाईन में उतरे तो उन्हें भी साँस लेने में दिक्कत हो रही थी और दम घुटने लगा था। वहीं एक साथ पिता-पुत्र की मौत होने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। शांतीनगर पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामल दर्ज कर तबेला मालिक इम्तियाज मोमिन के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया है।

Leave a comment