फेसबुक, ट्विटर पर अच्छी फालोविंग वाले लोगों को ही मिलेगा कांग्रेस का टिकट

जागरूक टाइम्स 164 Sep 3, 2018

नई दिल्ली । मध्य प्रदेश में इस साल के अंत तक होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एमपीसीसी) ने टिकट लेने के इच्छुक लोगों के लिए कुछ शर्तें तय की हैं। जबकि, पिछले 15 सालों से राज्य की सत्ता पर काबिज भाजपा ने मंदिरों, मठों के संचालकों, साधु, संन्यासियों एवं अन्य प्रमुख लोगों के बारे में जानकारी जुटाना शुरू किया है। हालांकि, यह पता नहीं है कि इस जानकारी को वह चुनाव में किस तरह इस्तेमाल करेगी।

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने 'आगामी चुनाव में प्रत्याशी के फेसबुक पेज पर 15,000 लाइक, ट्विटर एकाउंट पर 5,000 फॉलोअर, तथा बूथ-स्तर पर कार्यकर्ताओं के साथ व्हॉट्सऐप ग्रुप बना होने की शर्त रखी है। उन्हें एमपीसीसी के ट्विटर एकाउंट की हर पोस्ट को लाइक और री-ट्वीट करना होगा। एमपीसीसी ने टिकट पाने के इच्छुक लोगों से 15 सितंबर तक ट्वीटर, फेसबुक और व्‍हाट्सएप की जानकारी मध्‍यप्रदेश कांग्रेस के सोशल मीडिया और आईटी विभाग में उपलब्‍ध कराने को कहा है।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने प्रदेश में फैले 65,000 मतदान केंद्रों के इलाकों में स्थित सभी मंदिरों, हिन्दू धर्मस्थलों, मठों तथा इनके संचालक साधु, संतों, पुजारियों और इनसे जुड़े श्रद्धालुओं, सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं एवं अन्य महत्वपूर्ण व्यक्तियों के बारे में जानकारी जुटाई है। प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने बताया हां, हमने मंदिरों, मठों और इनसे जुड़े पुजारियों और संतों की जानकारी हासिल की है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने बूथ स्तर पर सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं और असरदार लोगों का डाटा भी एकत्र किया है।

Leave a comment