अगले 24 घंटों तक उपद्रव प्रभावित इलाकों में इंटरनेट बंद

जागरूक टाइम्स 285 Jul 16, 2019

उदयपुर (ईएमएस)। सोमवार को उदयपुर में रमेश पटेल हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हुए उपद्रव के बाद मंगलवार को प्रशासन ने प्रभावित इलाकों में अगले 24 घंटों के लिए इंटरनेट बंद करने के आदेश दिया है। मंगलवार को सुबह 8 बजे से बुधवार को सुबह 8 बजे उपद्रव प्रभावित इलाकों में तक नेट बंद रहेगा। संभागीय आयुक्त द्वारा जारी आदेश के अनुसार शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया गया है। जिसके बाद वल्लभनगर, मावली घासा, जावर माइंस, डबोक, कैलाशपुरी, सराड़ा, सलूंबर, झल्लारा और सेमारी में आगामी 24 घंटों तक इंटरनेट बंद रहेगा। घटना के बाद उपद्रव प्रभावित इलाकों में फिलहाल शांति बनी हुई है।

ऐहतियात के तौर पर बड़ी संख्या में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। सोमवार को रमेश पटेल हत्याकांड के मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों ने उदयपुर-सलम्बूर मार्ग पर स्थित पीलादर गांव में जाम लगा दिया। महिलाएं सड़क पर बैठ गईं और जब पुलिस ने महिलाओं को हटाने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने विरोध किया। ग्रामीणों ने इसका विरोध करते हुए पुलिस पर पथराव कर दिया। ऐसे में ग्रामीणों की भारी तादाद और पथराव को देखते हुए पुलिस को पीछे हटना पड़ा। इस दौरान ग्रामीणों ने वहां खड़े पुलिस के करीब आधा दर्जन वाहनों को तोड़फोड़ कर उनमें आग लगा दी। जिसके बाद हुई पुलिस फायरिंग में दो प्रदर्शनकारी घायल हो गए। बाद में ग्रामीणों ने रोडवेज की दो बसो को भी फूंक दिया था।

गौरतलब है कि पीलादर निवासी युवक रमेश पटेल लगभग सप्ताहभर पहले लापता हो गया था। जिस पर परिजनों ने स्थानीय थाने में उसकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। परंतु घटना के तीन-चार दिन बाद रमेश का शव एक कुएं में पड़ा मिला था, जिससे ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। लेकिन पुलिस ने उस समय समझाइश कर मामले को शांत करा दिया था। परिजनों और ग्रामीणों ने रमेश की हत्या का आरोप लगाते हुए कुछ लोगों पर शक जाहिर किया था। जिसके बाद पुलिस ने कुछ लोगों को पकड़ भी लिया, लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि पकड़े गए लोग मुख्य आरोपी नहीं है। अत: मुख्य आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर ही ग्रामीण सोमवार को प्रदर्शन कर रहे थे।

Leave a comment