विद्यालय में पानी की समस्या को लेकर छात्र-छात्राओं ने किया विरोध प्रदर्शन

जागरूक टाइम्स 187 May 24, 2018
सिरोही/ फूंगणी। विद्यालय में पानी की समस्या को लेकर छात्र-छात्राओं ने किया विरोध प्रदर्शन, समय रहते नही हुआ समाधान तो करेगे विद्यालय की तालाबंदी शिक्षा विभाग के अधिकारी सरकारी स्कूलों में आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने का चाहे जो दावा करें। लेकिन हकीकत यह है कि सरकारी स्कूलों में सुविधाओं का अभाव है। ऐसा ही मामला सिरोही के फुंगणी गांव के आदर्श राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का है। बच्चों को पढ़ाई बीच में छोड़ पानी पीने घर जाना पड़ता है। वहीं शिक्षकों को भी पोषाहार के लिए पानी के प्रबंध करने होते हैं। सर्व शिक्षा अभियान के तहत सरकारी स्कूलों में बिजली,पानी, शौचालय तथा अन्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रति वर्ष करोड़ों का बजट दिया गया। इसके लिए योजना बनाकर स्कूलों में सुविधा उपलब्ध कराई गई। सरकार द्वारा स्कूलों में छात्र-छात्राओं को प्रत्येक सुविधाएं मुहैया कराए जाने की मंशा है। लेकिन आज भी ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूल सुविधाओं से कोसो दूर हैं। दरअसल सिरोही जिले के फूंगणी गांव में प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय में सालों पहले विद्यालय में ग्राम पंचायत द्वारा 2007 में छात्र-छात्राओं के पानी पीने के लिए टंकी का निर्माण कर उसमें नल कनेक्शन करा रखा है। लेकिन नल कनेक्शन भी ना के बराबर है। जिस कारण छात्र-छात्राओं को पीने का पानी घर से ही लाना पड़ता है। स्कूल प्रबंधन द्वारा कई बार आवेदन देकर शिकायत कर चुके हैं। लेकिन संबंधित विभाग द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि पढ़ाई के दौरान बच्चों को घर आना पड़ता है क्योंकि स्कूल में पानी की व्यवस्था नही होने से पानी घर से ले जाते हैं। शिक्षा विभाग के अधिकारी यहां निरीक्षण करने आ चुके हैं। लेकिन चिद्यालय में लगे नल कनेक्शन सुधार के लिए कोई प्रयास नहीं किए गए हैं। ग्रामीणों सहित स्कूल प्रबंधन ने कई बार जिला मुख्यालय पहुंचकर जनसुनवाई में इस समस्या को रखा गया था। ग्राम पंचायत की देख रेख गांव में जनता जल योजना की देखरेख ग्राम पंचायत द्वारा की जा रही है लेकिन विद्यालय में पानी की समस्या को ग्राम पंचायत सरपंच सहित वार्डपंच भी अनदेखी की चादर ओढ़ रखी है। ग्राम पंचायत को विद्यालय प्रबंधक ने कई बार शिखायत सहित गुहार लगा चुके है। लेकिन विद्यालय की समस्या का समाधान नही हुआ। छात्र-छात्राओं ने किया प्रदर्शन गांव में विद्यालय में पानी पीने के लिए नही होने से विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने किया विरोध प्रदर्शन विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने सरकार व जिला प्रशासन के खिलाफ नारे बाजी कर किया विरोध प्रदर्शन यह प्रदर्शन करीब एक घण्टे तक चला। विद्यालय के प्रधानार्य शेरसिंह ने छात्र-छात्राओं से समझाईस की लेकिन विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने खुले शब्दों में कह डाला की समय रहते विद्यालय में पानी की व्यवस्था नही हुई तो विद्यालय के बच्चे विद्यालय की तालाबंदी करने पर मजबूर होगे। और फिर दौड़ते घर की ओर विद्यालय में पानी की सुविधा नहीं होने से छात्र-छात्राएं घर से बोतल में पानी भरकर स्कूल लाते हैं। पानी बीतने पर विद्यार्थी फिर घर की ओर दौड़ पड़ते है। यह सिलसिला रोजाना चलता है। पानी के अभाव में स्टाफ को सर्वाधिक परेशानी होती है। वे भी पानी के लिए भटकने को मजबूर हैं। स्टाफ के सदस्य छात्र-छात्राओं द्वारा घर से लाए पानी पर निर्भर हैं। इसी प्रकार पोषाहार पकाने भी दिक्कत आ रही है। हैण्डपम्प या नलकूप नहीं होने से पोषाहार पकाने वाली महिला स्वयं के घरों से पानी लाती हैं। इनका कहना है। विद्यालय में पानी की टंकी का निर्माण कर नल कनेक्शन के लिए विद्यालय के बजट से नल कनेक्शन के सहित पाईप लाये गए और कनेक्शन भी किया गया। लेकिन कनेक्शन से लेकर आज दिन तक पानी की टंकी में पानी नही पहुंचा है। कईबार ग्राम पंचायत को शिखायत सहित गुहार लगा चुके है लेकिन ग्राम पंचायत ध्यान नही दे रहे है। - शेरसिंह प्रधानाचार्य फूंगणी विद्यालय में पानी की समस्या का पता मुझे आज ही पता चला है तो सिरोही में आयोजित पंचायत समिति की बैठक में प्रस्ताव लेकर समाधान किया जायेगा। - नैनसिंह राजपुरोहित पंचायत समिति सदस्य सिरोही।

Leave a comment