सिरोही एसीबी टीम ने रानीवाडा में पीडब्लूडी एईएन को रिश्वत प्रकरण पकड़ा

जागरूक टाइम्स 1138 Jul 2, 2018

जालोर।

सिरोही. सिरोही एसीबी की टीम ने रानीवाड़ा में कार्यरत पीडब्ल्यूडी एईएन हेमाराम विश्नोई को सोमवार सवेरे उसके कार्यालय से एक लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। एईएन को गिरफ्तार कर रानीवाड़ा पुलिस थाने ले जाया गया। लेकिन, वहां मामला गर्म होने पर उसे मंडार पुलिस थाने लेकर आए। एईएन के खिलाफ पीडब्ल्यूडी में काम करने वाले ठेकेदार ने शिकायत की थी। ठेकेदार ने 2014 में सड़क बनाई थी। एईएन ने बतौर कमीशन ठेकेदार से डेढ़ लाख रुपए का कमीशन मांगा था। लेकिन, ठेकेदार ने नहीं दिया। जिस पर एईएन एमबी नहीं भर रहा था। एसीबी में शिकायत के बाद वेरिफिकेशन के दौरान एईएन ठेकेदार से 50 हजार रुपए ले चुका था। सोमवार को बाकी एक लाख रुपए देने पहुंचा, तब एसीबी की टीम ने उसे पकड़ लिया।

सिरोही एसीबी टीम के प्रभारी डीएसपी जितेंद्र सिंह मेड़तिया ने बताया कि 19 जून को परिवादी छैलसिंह पुत्र डूंगरसिंह देवल निवासी भीनमाल ने सिरोही एसीबी को शिकायत की। शिकायत में बताया कि भागीदारी फर्म ने जाखड़ी रानीवाड़ा क्षेत्र में वर्ष 2014 में सड़क निर्माण कार्य करवाया गया था। उसमें उसकी फर्म ने अन्य निविदादाता फर्म से पॉवर ऑफ अटार्नी के जरिए सबलेट रोड निर्माण कार्य ले रखा था। इस कार्य का फाइनल बिल बनाने के लिए संबंधित निर्माण कार्य की एमबी एईएन हेमाराम विश्नोई द्वारा अपने कब्जे में करीब एक वर्ष से रखकर बार-बार रुपयों की मांग कर था। वर्ष 2014 में करवाए गए कार्य के कमीशन के रूप में डेढ़ लाख रुपए मांग कर रहा था। एसीबी टीम ने इस मामले का सत्यापन करवाया। सत्यापन के दौरान एईएन हेमाराम विश्नोई 50 हजार रुपए ले चुका था बाकी रकम सोमवार को देने का तय हुआ। जिस पर सोमवार सवेरे एसीबी टीम ने अलग-अलग ग्रुप बनाकर परिवादी के साथ रानीवाड़ा स्थित एईएन कार्यालय पहुंचे। जैसे ही परिवादी ने एक लाख रुपए दिए। टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।


Leave a comment