कोरोना के ढेर पर पिंडवाड़ा शहर फिर हुआ कोरोना विस्फोट 21 में से 10 शहर मैं पॉजिटिव रोगी मिले

जागरूक टाइम्स 193 Jul 6, 2020

पिंडवाड़ा : शहर में पुलिस और प्रशासन की उदासीनता के चलते लोगों की लापरवाही के चलते दिन-ब-दिन दिन निरंतर कोरोना पॉजिटिव रोगियों का आंकड़ा जिले में प्रथम स्थान की ओर बढ़ रहा है रविवार को जिले में 27 कोराना सैंपल जांच में से अल्ट्रा ट्रैक सीमेंट सहित पिंडवाड़ा शहर में 10 रोगी पाए गए लोगों में मचा हड़कंप आज रविवार दोपहर को कोरना सैंपल जांच रिपोर्ट आने पर 4 अल्ट्राटेक सीमेंट मैं कार्यरत कॉलोनी में रहने वाले वही शहर के पिता पुत्री पूर्व में पॉजिटिव पाई गई महिला का सहित अन्य एक महिला एक पुरुष अहमदाबाद शादी में से आए लोगों के संपर्क में आने से 6 जने पॉजिटिव पाए गए चिकित्सा विभाग के चिकित्सक कश्यप जानी ईशाराम पवार बलवीर सिंह गुजराल दिलीप कंडारा अरुण परिहार मोहम्मद लियाकत की टीम कोरोना पॉजिटिव रोगियों को घर पर पहुंचकर जानकारी जुटाई जिसमें रावल गली के रहने वाले पिता पुत्री जो तमिलनाडु मदुरई में रहते थे और 4 दिन पूर्व शहर में आए थे जिन को बुखार खांसी की तकलीफ होने पर कोरोना वायरस के सैंपल की जांच कर रही थी जिसमें दोनों पॉजिटिव पाए गए वही आमली रोड पर रहने वाले युवक का अल्ट्राटेक सीमेंट मैं जांच की गई थी जिसमें पॉजिटिव पाया गया

  वह 8 दिन पूर्व मुख्य बाजार में रहने वाली महिला जो अंबाजी में शादी में गई थी उस घर की बारात अहमदाबाद गई थी वहीं पिंडवाड़ा घर लौटने पर स्वास्थ्य खराब होने पर जांच में पॉजिटिव पाई गई थी उसी का पुत्र संक्रमण होने पर अब फौजी जी पाया गया नहीं उदयपुर रोड पर रहने वाले एक दंपति इलाज के लिए शहर में निजी क्लीनिक में उपचार करवाया था सही होने पर गुजरात पालमपुर में जाकर उपचार कराया था और पास में और एक समाज में महिला की मौत हुई थी उनके यहां बैठने गए थे जिसके बाद तबीयत सही होने के चलते उनकी जांच करवाई थी जो रिपोर्ट पॉजिटिव आई इन सभी की ट्रैवल हिस्ट्री लेकर संपर्क में आए लोगों   को कौनरनटाइम कर 108 एंबुलेंस की मदद से उपचार के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर भेजा गया वहीं अल्ट्राटेक सीमेंट के आवासीय कॉलोनी में पाए गए पॉजिटिव रोगियों को आबू रोड क्वॉरेंटाइन सेंटर भेजा गया गौरतलब है कि निकटवर्ती अल्ट्राटेक सीमेंट मैं कार्यरत कर्मचारी का मजदूर का सैंपल लिया गया था पर उनमें से कई लोग पॉजिटिव पाए गए थे

वहीं सरकार द्वारा जारी गार्ड लाइन की पालना नहीं होने की वजह से निरंतर पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़ रही है दूसरी ओर पुलिस व प्रशासन की कार्यशैली भी लचर और लापरवाही पूर्वक शहर में नजर आ रही है पॉजिटिव रोगी पाए जाने पर चिकित्सा विभाग के अलावा कोई भी प्रशासनिक जिम्मेदार अधिकारी नहीं पहुंचने की वजह से लोग सरकार की जारी की गई गाइडलाइन की पालना नहीं कर रहे हैं शहर में कर्फ्यू होने के बावजूद दिन वह रात को लोग बेखौफ मुंह पर बिना मास्क बांधे झुंड के झुंड आम रास्ते पर घूमते रखड़ते नजर आते हैं पर उन्हें रोकने टोकने वाला एक भी अधिकारी नजर नहीं आता है जिसके चलते शहर में कोरोना संक्रमण रोगियों का आकड़ा कभी भी विकराल रूप ले सकता है समय रहते प्रशासन नहीं चेता तो प्रशासन की लापरवाही लोगों की मूर्खता दूसरे निर्दोष लोगों को जान गवा कर कीमत अदा करनी पड़ सकती है दूसरी ओर राजस्थान लाखों रुपए खर्च कर इस महामारी से लोगों की जान बचाने के लिए जागरूक अभियान छेड़ रखा है पर पुलिस विभाग के अलावा एक भी अधिकारी इस अभियान को सफल बनाने में दिखाई नहीं दे रहा है


Leave a comment