गांधीनगर ओवर ब्रिज अवाप्त भूमि राशि की प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति जारी

जागरूक टाइम्स 226 Jul 13, 2020

आबूरोड। राजस्थान अर्बन ड्रिंकिंग वाटर एंड सीवरेज इंफ्रास्ट्रक्चार लिमिटेड जयपुर के संयुक्त सचिव ने गांधीनगर समपार फाटक ओवर ब्रिज अवाप्त भूमि के लिए 3 करोड 95 लाख 45 हजार 626 रुपए की वित्तीय स्वीकृति जारी की है। साथ ही स्वायत शासन विभाग के संयुक्त सचिव पत्र भी लिखा है। गांधीनगर रेलवे समपार फाटक पर बनने वाले ओवर ब्रिज के लिए अवाप्त भूमि को लेकर संबंधित विभाग की ओर से आज तक मुआवजा राशि जमा नहीं कराई गई। जिससे ब्रिज निर्माण होने में समय लग रहा है। ब्रिज निर्माण के लिए राजा कोठी की एक बीघा 19 विस्वा भूमि को अवाप्त किया जाना है। इस बारे में पूर्व में पालिका प्रशासन द्वारा 7 अक्टूबर 2019 द्वारा अवाप्त की जाने वाली भूमि की एवज में राशि उपखंड अधिकारी कोष में जमा करवाने को कहा गया था।

लेकिन, करीब महीने बीत जाने के बाद भी यह राशि जमा नहीं करवाई गई। इस पर पालिका अधिशासी अधिकारी की ओर से 26 नवंबर को पत्र भेजकर राशि जमा कराने को कहा गया। ताकि, शीघ्र ही कार्य शुरू हो सके।   रुडिस्को के कार्यकारी अधिकारी ने चार दिसंबर 2019 को अधिशासी अधिकारी को पत्र लिखा था। 132 समपार फाटक पर प्रस्तावित ओवर ब्रिज निर्माण को एक बीघा 19 विस्वाा भूमि अवाप्ति के लिए 3 करोड़ 95 लाख 47 हजार 646 रुपए स्थानांतरित करने के लिए बैंक का नाम, खाता धारक का नाम, खाता संख्या, आईएफसी कोड की जानकारी देने को लिखा था।
ईओ ने लिखा पत्र
ईओ त्रिकमदान चारण द्वारा एक जनवरी 2020 को परियोजना के निदेशक को पत्र लिखा गया। बैंक संबंधित सारी जानकारी भेज दी गई। छह महीने व्यतीत होने के बाद रुडिस्को के कार्यकारी निदेशक द्वारा आज दिन तक पालिका कोष में राशि जमा नहीं कराई गई। इस पर पूर्व पार्षद जितेंद्र परिहार ने पालिकाध्यक्ष को ज्ञापन देकर ध्यान आकर्षित कराया। इस पर यूडीस्को के संयुक्त सचिव ने प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति जारी की। भूमि आवाज होते ही गांधीनगर ओवर ब्रिज का निर्माण रफ्तार पकड़ेगा।



Leave a comment