दस लाख के स्टील के बर्तनों को खुर्दबुर्द करने का पर्दाफाश

जागरूक टाइम्स 185 Nov 12, 2019

-ट्रक पर फर्जी नम्बर प्लेट लगाकर खुर्द-बुर्द किए थे बर्तन

-ट्रक मालिक गिरफ्तार, स्टील के बर्तन व ट्रक बरामद

आबूरोड। रीको पुलिस ने ट्रक पर फर्जी नंबर प्लेट लगाकर दस लाख के स्टील के बर्तन खुर्द-बुर्द करने का पर्दाफाश किया है। दस लाख के बर्तन बरामद किए। साथ ही ट्रक को जब्त किया। वहीं ट्रक चालक (मालिक) को गिरफ्तार कर किया। रीको थानाधिकारी चम्पाराम ने बताया कि अंबाजी ओद्यौगिक क्षेत्र में स्थित सोनल फ्रेट केरियर, महावीर ट्रासपोर्ट के प्रोप्राईटर हरिमोहन पुत्र मूलदान गढवी ने गत तीन नवम्बर को रिपोर्ट दी। उसने अपने ट्रांसपोर्ट कम्पनी के मार्फत मावल ग्रोथ सेंटर स्थित कौशल मेटल टेक प्राईवेट लिमिटेड से करीब दस लाख रूपए के बर्तन भरे।

उत्तरप्रदेश में जोनपुर पहुंचाने के लिए आयशर ट्रक नम्बर यूपी 32 एचएन 0928 में भरकर विपिन शर्मा नाम के ट्रक चालक के साथ 21 अक्टूबर को उत्तरप्रदेश के लिए रवाना किया। करीब दस दिन तक उक्त माल संबधित फर्म को नही पहुंचा। इस पर उक्त ट्रक चालक के मोबाइल पर सम्पर्क किया। लेकिन, उससे कोई सम्पर्क नहीं हुआ। जिस पर माल खुर्द-बुर्द होने की आशंका हुई। इस पर ट्रक चालक के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करवाया गया।

पुलिस कार्यवाही
पुलिस ने प्रकरण दर्ज करने के बाद एसपी कल्याणमल मीणा के निर्देशन में डीएसपी प्रवीण कुमार के सुरपविजन में अनुसंधान किया। अनुसंधान के दौरान तकनीकी पहलुओं पर विशेष ध्यान रखा गया। उक्त ट्रक के संबध में व ट्रक मालिक के सबंध में जानकारी ली गई। जांच में पाया गया कि उक्त ट्रक नम्बर यूपी 32 एचएन 0928 का वाहन उक्त ट्रक न होकर अन्य वाहन कंटेनर है। जो उसके मालिक के पास ही खड़ा है। उक्त नम्बर प्लेट फर्जी लगाई गई थी। अनुसंधान के दौरान यह पाया गया कि उक्त ट्रक के वास्तविक नम्बर यूपी 30 एटी 6695 है। इसका मालिक श्रमिक का कार्य करने वाला उत्तरप्रदेश के हरदौई जिले के रंटपुरा निवासी हाल हरपालपुर के सदर बाजार के मैन मार्केट विजय कुमार (22) पुत्र सतीश चन्द्र यादव है।

जिसने स्वंय उक्त ट्रक पर फर्जी नम्बर प्लेट लगाकर समान हड़पने की नींयत से स्टील के बर्तन भरकर ले गया। बर्तनों को खुर्द-बुर्द कर दिया। तकनीकी आधार पर विजय कुमार की पहचान कर उसे गिरफ्तार किया गया। खुर्द-बुर्द किए गए करीब दस लाख रूपए के बर्तन बर्तन बरामद किए गए। ट्रक को जब्त किया गया। गौरतलब है कि आरोपी पहले भी इसी तरह से भीलवाड़ा से मूंगफली भरकर ले जा चुका है।

पुलिस का टीम वर्क
मामले के पर्दाफाश करने के चलते पुलिस टीम के प्रयास सार्थक हुए। टीम के रीको सीआई चम्पाराम, हैड कांस्टेबल राजाराम, कांस्टेबल भवानीसिंह, जगदीश डूडी (तकनीकी सहयोग), रमेश (एसपी ऑफिस के कम्प्यूटर शाखा के तकनीकी सहयोगी) के प्रयासों के बदोलत ही मामले का पर्दाफाश हो सका।





Leave a comment