पढ़ाई सिर्फ डिग्री के लिए नही होती, बल्कि दूसरों के काम आना भी जरूरी है- लोढ़ा

जागरूक टाइम्स 412 Jun 24, 2018

सिरोही। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य पूर्व विधायक संयम लोढ़ा ने कहां कि शिक्षा का मकसद केवल ड़िग्री प्राप्त करना नहीं हैं बल्कि दूसरे लोगों के काम आना है। उनकी तकलीफ दूर करना है। आवश्यकता में सहयोगी बनना हैं। उन्हांेने कहां कि शिक्षित व्यक्ति स्वयं से ऊपर उठकर दूसरो के कल्याण के लिए सोचे तभी शिक्षा का सही अर्थ बनता हैं यह विचार लोढ़ा ने यहां मोहब्बतनगर में नामदेव छीपा समाज के 42 गांव के वार्षिकोत्सव व प्रतिभावान छात्र-छात्रा सम्मान समारोह में बोल रहे थे। कार्यक्रम में जिला कांग्रेस अध्यक्ष जीवाराम आर्य एवम् पूर्व शिवगंज कांगे्रस अध्यक्ष पुखराज परिहार भी बतौर अतिथि मौजूद थे।
लोढ़ा ने कहां कि सभी वर्गो में शिक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ी है लेकिन महिला शिक्षा को प्राथमिकता दी जाऐ ताकि उसका सही मायने में परोपकार का सोच सार्थक हो सके। लोढ़ा ने गुरूकुल शिक्षा पद्धति के समय का एक उदाहरण देकर समझाया। उन्होंने कहां कि सनातन धर्म एक महान धर्म हैं जिसकी मूल्य मान्यताओं को लोगों में स्वीकार हो उसके लिए आदि शंकराचार्यो ने चारो भाग में पीठ स्थापित कर प्रचार प्रसार किया है। लोढ़ा ने कहां कि नामदेव ठाकूरजी ने तेरहवीं सदी में जन्म लिया और चैदहवीं सदी में विपरित परिस्थितियों में जन कल्याण के काम किया। उसी के परिणाम स्वरूप आज हम उनके जीवन को आदर्श मानकर उनका अनुसरण कर रहे है।
पूर्व विधायक ने कहां कि छीपा समाज एक संघर्षशील एवम् कला से ओत प्रोत समाज हैं। आज हर क्षैत्र में आगे बढ़ रहा है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष जीवाराम आर्य ने कहां कि मनुष्य का जीवन सबसे श्रेष्ठ हैं उसे जीने की कला हमें ही तय करनी चाहिए। उन्होनें कहां कि आधुनिक युग में दुनिया एक मोबाईल में सिमट कर रह गई है। ऐसे में आने वाली पीढी को अपनी रूचि के अनुसार अपना फिल्ड चुनने की आज्ञा दी जाए। जब बच्चे अपनी इच्छा से काम करेंगे तो निश्चित रूप से उनकी प्रतिभा निखर कर आयेगी। आर्य ने कहां कि लोग राजनैतिक क्षैत्र में काम करे ताकि सरकारी भागीदारी भी रह सकें।
शिक्षक पोपटलाल ने कहां कि कोई भी समाज बुराईयों से मुक्त तभी हो सकता हैं जब व्यक्ति खुद को बुराई से मुक्त करें। पुखराज परिहार, एड़वोकेट कैलाश नामा ने भी विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में पहुॅचने पर पूर्व विधायक लोढ़ा व जिलाध्यक्ष आर्य का ढ़ोल ढ़माकों के साथ सौमेया कर स्वागत किया। अतिथियों ने नामदेव ठाकूरजी मंदिर पहुॅचकर दर्शन किये। छीपा समाज 42 गांव की ओर से बाबुलाल व रमणलाल ओड़ा साफा व माला पहनाकर स्वागत किया।
सिरोही नगर पालिका के पार्षद हिम्मत टेलर का भी समाज की ओर से स्वागत किया गया। कार्यक्रम में मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष थानमल, मंत्री प्रकाश परारिया, कोषाध्यक्ष वनाराम टेलर, बाबुलाल कपुरजी सोलंकी, कामगार सेवा संस्थान के जिलाध्यक्ष हंजारीमल छीपा, खीमचन्द्र एस. कुमार, अरविन्द परारिया, बालुजी सिरोही, शांतिलाल टेलर ऊड, उपाध्यक्ष लेहरचन्द परारिया इत्यादि गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
कार्यक्रम में सवेरे प्रतिभावान छात्र-छात्राओं एवम् अन्य क्षैत्रोे के प्रतिभाओं को सम्मानित किया। तत्पश्चात् मोहब्बतनगर के मुख्य मार्गो से शोभायात्रा निकाली गई।  

Leave a comment