ट्रैक से उतरा डीजल इंजन, रेल प्रबंधन में मचा हड़कंप

जागरूक टाइम्स 258 Oct 26, 2019

-मोरथला रेलवे स्टेशन के पास हुआ हादसा

-रेल ट्रेक तीन पर हुई दुर्घटना

आबूरोड। समीपवर्ती मोरथला रेलवे स्टेशन के पास शनिवार तड़के करीब 5 बजकर 35 मिनट पर शंटिंग कर रहा डीजल इंजन पटरी से उतर गया। डीजल इंजन के टै्रक से उतरने की इतला मिलते ही रेल प्रबंधन में हड़कंप मच गया। दुर्घटना का संकेतक हूटर बजते ही रेल अधिकारियों व कर्मचारियों में अफरातफरी मच गई। डीजल इंजन का केवल एक पहिया ट्रैक से नीचे उतरने व इंजन के पीछे कोई कोच जुड़े नहीं होने से बड़ा हादसा टल गया। आनन-फानन में आरपीएफ ,जीआरपी व रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंचे।

 मोरथला रेलवे स्टेशन के समीप शंंटिंग कर रहे डब्लूडीजी4डी 70581 डीजल इंजन अचानक पटरी से उतर गया। डीजल इंजन के आगे का पहिया ट्रैक से उतरने से इंजन वहीं जाम हो गया। ड्राइवर ने संबंधित अधिकारी को दुर्घटना की जानकारी दी। डीजल इंजन के ट्रैक से उतरने की सूचना मिलते ही रेल प्रबंधन में खलबली मच गई। स्टेशन पर दुर्घटना का संकेत देने वाला हूटर बजना शुरू हो गया। आनन-फानन में रेल कर्मचारी, जीआरपी, आरपीएफ मोरथला के लिए रवाना हो गए। साथ ही दुर्घटना राहत गाड़ी भी मौके के लिए रवाना हो गई। संबंधित विभागों के अधिकारी, कर्मचारी पर पहुंचे। करीब 45 मिनट की देरी से पहुंची दुर्घटना राहत गाड़ी में लाए गए उपकरणों की मदद से ट्रक से उतरे डीजल के पहिए को चढ़ाने की कवायद शुरू की गई। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद डीजल को ट्रैक पर चढ़ाया जा सका।

जैक की मदद
रेलवे की प्रणाली हाइड्रोलिक जैक एमएफडी की सहायता से इंजन को ऊपर उठाया गया। पटरी पर चढ़ाने के प्रयास किए जाने लगे। इसी दौरान अचानक जैक फिसल गया। तेज आवाज के साथ इंजन नीचे आ गया। इस बार एक रेलकर्मी हादसे का शिकार होते होते बाल बाल बच गया। आसपास खड़े सभी रेल अधिकारी, कर्मचारी दौड़ककर दूर जा खड़े हुए। हादसे का शिकार होने से बचे रेलकर्मी को संभाला। रेलकर्मी के किसी प्रकार की चोट नहीं पहुंचने से रेलकर्मियों ने राहत की सांस ली। आधुनिक पद्धति को फैल होते देख राहत दल ने लकड़ी के स्लीपर को पटरी के बीच फंसाया। इंजन को चालू किया। इंजन कोपीछे की तरफ चलाया गया। एक ही झटके में इंजन पटरी पर चढ़ गया। डीजल के पटरी पर चढ़ते ही रेलवे के अधिकारियों व कर्मचारियों ने चैन की सांस ली।

ट्रैक क्षतिग्रस्त
हादसे की जगह कुछ स्थान पर रेलवे ट्रेक क्षतिग्रस्त हो गया। सम्बधित विभाग के रेलकर्मी व अधिकारी ट्रैक को दुरुस्त करने में जुट गए। स्टेशन के पास हादसा होने से रेल यातायात पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। दूसरे ट्रेक से रेल यातायात सुचारू रहा।

Leave a comment