पाली में पहले पुलिस पर फायरिंग की, घिर गया तो खुद को गोली मारी

जागरूक टाइम्स 3355 Aug 3, 2018

कुख्यात तस्कर खरथाराम ने खुद को गोली मारकर की आत्मह्त्या, एक तस्कर गिरफ्तार

नाकाबंदी तोड़ भागे तस्कर, पुलिस ने कराई घेराबंदी

पाली। पाली जिले के आदिवासी बाहुल्य इलाके नाना थाना क्षेत्र के भीमाना क्षेत्र में शुक्रवार अलसुबह डोडा पोस्त तस्करों को पकडऩे गई पुलिस पर तस्करों की जोरदार फायरिंग हुई। इस दौरान एक तस्कर के पकड़े जाने के बाद दूसरे बाड़मेर के कुख्यात तस्कर खरताराम ने पिस्टल से स्वयं को गोली मार आत्महत्या कर ली। वहीं पुलिस ने उसके सहयोगी भजनलाल को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने उनके पास से देसी कट्टा व जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. पुलिस ने दोपहर में आरोपियों को पहाड़ियों में तलाश कर उन्हें घेर लिया. पुलिस से घिरा देखकर खरताराम जाट ने पहले तो पुलिस को डराने के लिए देसी कट्टे से हवाई फायर किए. बाद में खुद को गोली मार ली, जिससे उसकी मौत हो गयी. खरताराम जाट बाड़मेर जिले का हिस्ट्रीशीटर था. पुलिस ने उसके सहयोगी भजनलाल को गिरफ्तार कर लिया. 

यह भी पढ़े :  निम्बला गांव में फायरिंग के मुख्य आरोपी रघुवीरसिंह सहित चार जनों ने किया सरेंडर 

घटना की सूचना पर एसपी राहुल प्रकाश मौके पर पहुंचे और घटनाक्रम की जानकारी ली. आरोपी के शव को बांगड़ अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है. नाणा थाना पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि इस क्षेत्र से होकर डोडा पोस्त की बड़ी खेप निकलने वाली है। इस पर पुलिस ने भीमाना के पहाड़ी क्षेत्र से होकर निकलने वाले मार्ग पर नाकाबंदी कर दी। तड़के एक लोडिंग वाहन को रूकने का इशारा किया, लेकिन चालक वहां रूकने के स्थान पर वाहन को भगा ले गया।

इसके पीछे आ रही एक स्कॉर्पियो में सवार तस्करों ने उसी समय पुलिस पर गोलियां बरसाना शुरू कर दी। गनीमत यह रही कि तस्करों की ओर से किए गए पांच फायर में से पुलिस को एक भी गोली नहीं लगी। गोलियों से बचाव कर पुलिस संभलती तब तक तस्कर दोनों वाहन भगा ले गए।
पुलिस ने दोनों वाहनों का पीछा करते हुए मैसेज भेज क्षेत्र में नाकाबंदी करवा दी। ऐसे में तस्कर दोनों वाहनों को सड़क से नीचे उतार कर पहाड़ी क्षेत्र में भगा ले गए।

थोड़ा आगे जाने पर दोनों वाहनों के टायर पंचर हो गए। इस पर दोनों वाहनों को वहीं छोड़ सभी तस्कर भाग निकले। पुलिस ने दोनों वाहन कब्जे में ले लिए। एक लोडिंग वाहन में डोडा पोस्त भरा हुआ है। वहीं स्कॉर्पियो से पुलिस को एक पिस्टल सहित कुछ कारतूस मिले है। तस्करों को पकड़ने के लिए पुलिस ने पूरे क्षेत्र में सघन तलाशी अभियान शुरू किया है।

यह भी पढ़े : ससुराल पक्ष पर विवाहिता को प्रताडि़त करने का आरोप, सैकड़ों लोगों ने सौंपा एसपी को ज्ञापन 

पुलिस ने अरावली की पहाड़ी में तस्कर को घेरा

नाणा थानाधिकारी करणीदान चारण ने बताया कि दोपहर को पुलिस टीम ने अरावली की पहाड़ियों में दो तस्करों को घेर लिया। इस पर दोनों तस्करों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिस ने भी कई राउंड फायर किए। इस दौरान पुलिस ने जोधपुर जिले के पीपाड़ क्षेत्र निवासी भजनलाल विश्नोई को पकड़ लिया। उसके पकड़े जाने के बाद दूसरे तस्कर ने पुलिस पर फायरिंग जारी रखी।

थोड़ी देर बाद दूसरे तस्कर ने स्वयं को गोली मार आत्महत्या कर ली। बाद में उसकी शिनाख्त बाड़मेर के माडपुरा बरवाला निवासी कुख्यात तस्कर खरताराम पुत्र हरीसिंह के रूप में की गई। जोरदार गोलीबारी के बीच एक तस्कर के आत्महत्या करने की सूचना मिलते ही पाली के सभी आला पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पुलिस फिलहाल भजनलाल विश्नोई से पूछताछ कर मामले की जांच में जुटी है।


इन मामलों में था वांछित खरथाराम

माडपुरा बरवाला निवासी 35 वर्षीय खरताराम कई बरस से डोडा व अफीम की तस्करी में सक्रिय था। इस दौरान वह दो-तीन बार जेल में रहा। इस वर्ष के शुरुआत में खरताराम ने जोधपुर शहर के हरीश नाम के एक युवक का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी थी। इसके बाद से वह फरार चल रहा था।

डोड सेे भरे वाहन की सुरक्षा के लिए दूसरे वाहन में रहते तस्कर 

 मारवाड़ में डोडा पोस्त की बिक्री पर प्रतिबंध लग ने के बाद से इसकी तस्करी बढ़ गई है। डोडा पोस्त से लदे वाहनों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए अमूमन तस्कर दूसरे वाहन में साथ चलते है। मारवाड़ के ग्रामीण क्षेत्र में डोडा पोस्त का सेवन बहुत होता है। डोडा पोस्त मध्य प्रदेश और उससे सटे राजस्थान के कुछ हिस्सों से तस्करी कर लाया जाता है।

Leave a comment