जान जोखिम में डालकर नदी पार कर रहे छात्र छात्राएं और राहगीर

जागरूक टाइम्स 131 Aug 22, 2019

आऊवा क्षैत्र मैं गत दिनों सेहुई रही भारी बारिश के कारण कई दर्जनों गांवों के जनसंपर्क टूट चुके है मारवाड़ जंक्शन और देवली मार्ग को एक साथ बांधने वाली सड़क की रपट टूट चुकी है। अब मारवाड़ जंक्शन जाने के लिए वाया राणावास होकर जाना पड़ रहा है जो बहुत लंबा पड़ रहा है हालांकि इस रपट का निर्माण नरेगा के तहत कुछ महीने पहले ही लाखों रुपए की लागत से बनाई गई थी लेकिन रपट कुछ ही महीनों बाद टूट कर बिखर गई । धनला कोटडी बासनी कोलपुरा मामावास ईसाली जांणुदा मुकुंनपुरा सहित दर्जनों गांवों का संपर्क टूट चुका है ।

लेकिन बरसात के पहले मौसम में ही वह टूट कर बिखर गया जिस से मारवाड़ जाने के लिए लोगों को 10 किलोमीटर घूमकर मारवाड़ जंक्शन जाना पड़ रहा है लेकिन ज्यादातर लोग अपने रोजमर्रा कार्य पूरा करने के लिए अपनी जान को जोखिम में डालकर उस नदी को पार कर रहे हैं उस नदी में लगभग घुटने से लेकर कमर तक पानी भरा हुआ है साथ ही कई बड़े-बड़े गड्ढे पड़ गए हैं जिससे ग्रामीणों और राहगीरों को मुश्किलों का सामना करना पड रहा है इस नदी पर पुल बनाने की मांग वर्षो से उठती रही परंतु प्रशासन हर बारिश की अनदेखी करता रहा स्थानीय सरपंच एवं आसपास के सामाजिक संगठनों द्वारा भी बार-बार उपखंड स्तर पर ज्ञापन दिए गए परंतु कुछ नहीं हो पाया आज भी बरसात ऋतु में कई महीनों तक इन गांवों का संपर्क इस नदी की वजह से टूट जाता है ग्रामीणों में भारी आक्रोश है.

कहिन.
चंद महीनों पहले बनी देवली नदी की रपट एक बरसात में ही टूट गई जिससे सरकार की पोल खुली है कि उन्होंने कितनी घटिया सामग्री रपट निर्माण में लगाई रपट टूटने से आसपास के ग्रामीणों को भारी परेशानी करनी पड़ रही है। युवा नेता
जी पी धनला

देवली नदी उपखंड मारवाड़ जंक्शन की सबसे बड़ी नदी है आजादी के बाद से लगातार इस नदी पर पुल बनाने की मांग की जा रही थी लेकिन प्रशासन की अनदेखी के चलते बरसात ऋतु में महीनों तक आसपास के गांवों का संपर्क इस नदी की वजह से टूट जाता है वर्तमान समय में नदी में गहरे गहरे खड्डे पड़ चुके हैं छात्र-छात्राओं और राहगीरों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है प्रशासन के क्या कहने कई बार इसके बारे में ज्ञापन दिए गए लेकिन कुछ नहीं हो पाया ... खुशवंत सिंह सरपंच देवली ग्राम पंचायत





Leave a comment