जान जोखिम में डाल बहती मघाई नदी में एकत्र कर रहें पत्थर

जागरूक टाइम्स 157 Aug 22, 2019

सादड़ी : अरावली वादियों में सुखद बारिस बाद ओवरफलो हूये बान्ध से निकलने वाली बहती मघाई नदी में इन दिनों जान जोखिम में ड़ालकर पत्थर बीनते हूये हरउम्र दराज ग्रामीण मिल जायेगें जिन्हे यह भान नहीं कि कभी भी रूपणमाता की मगरी में तेज मूसलाधार बारिश बाद नदियों का जलस्तर बढ़ कर जान पर बन सकती हैं जिन्हे इसका कोई भय नहीं हैं खननमाफिया इनसे सग्रहण करवाकर ओनेपौनके दाम पर खरीदकर चांदी कूट रहा हैं तो जिम्मेवार राजस्व प्रशासन,पुलिस एवं खनिज विभाग देखकर भी अनदेखा किये हूये हैं,ऐसे में अनहोनी की आशंकाओं से मुकरा नहीं जा सकता हैं।

इन दिनों राणकपुर व नलवाणिया बान्ध ओवरफलो बाद अपने निर्मल नीर के साथ कलकल कर बहने वाली जीवनदायिनी मघाई नदी के अस्तित्व को सुरक्षित बचाये रख पाना मुश्किल हो गया है,पालिकाक्षैत्र में इन दिनो सक्रिय अवैध खनन माफिया रात दिन खुल्ले आम जेसीबी से नदियॉ पाटकर जीवनदायिनी नदियों के दामन को चीर-चीर कर रहा हैं। राज्य सरकार व खनिज विभाग से रॉयल्टी का ठेका नहीं होने पर देसूरी उपखण्ड़ क्षैत्र सहित पालिका क्षैत्र की नदियों से बजरी पत्थर परिवहन पर पूर्णतया प्रतिबन्ध के बावजूद क्षैत्र में सक्रिय खनन माफिया इन प्रतिबन्ध आदेशों की खुल्लम-खुल्ला धज्जियॉ उड़ाते बैखौफ धड़ल्ले से बजरी पत्थर का अवैध खनन कर ओर करवा रहा है

खननकत्र्ता बजरी पत्थर खनन व परिवहन पर प्रतिबन्ध का हवाला देकर बाजारों से बजरी सप्लाई की मोटी रकम वसूल चांदी काट रहे हैं तो इन दिनों बहती मघाई नदी में राणकपुर किगएबोर्ट पूलिया से लेकर मादा ग्राम की सरहद तक आपको ऐसेअवैध खननकत्र्ता सहज दिखाई दे जायेगें राणकपुर सडक मार्ग भादरास रोड़ पूलिया तकजान जोखिम में डालकर बहती नदी गहरे पानी में पत्थर एकत्र करते हूये छोटे से लेकर बडी उम्र्रदराज के महिला पुरूष नजर आ जायेगें खननमाफिया इनसे दिनभर सग्रहण करवाता हैं देरशाम रात में एकत्रकर उठवाकर बाजारों में मुह मांगे दाम बेच रहा हैं।

नदियों के किनारे व्याप्त कई खेत मालिक भी परेशान है जिनके खेतों के धौरें ओर श्मशान स्थल तक इन्होने खोद ड़ाले इतना नुकशान होने के बाद भी राजस्व प्रशासन,पुलिस व खनिज विभागाधिकारी मूक दर्शक हैं ऐसा नहीं कि इन्हे जानकारी नहीं सब कुछ जानते हूये भी अनजान हैं, कस्बे सहित आसपास के दो ढ़ाई दर्जन ट्रैक्टर मालिकों व अवैध खनन माफियॉ की विभागाधिकारियों से साठगांठ जगजाहिर है तभी खुल्ले आम बजरी पत्थर परिवहन हो रहे हैं।

वर्जन:-बहती नदियों से पत्थर संग्रहण कर जान जोखिम में कोई डाल रहा हैं तो इसे अनदेखा नहीं करना चाहिेये नि:सन्देह इनके विरूद्ध कार्यवाही होनी चाहियें पत्ता कर कार्यवाही करवाता हूँ खनिज विभागाधिकारियों को भी इससे अवगत करवाकर कार्यवाही करवायेगें।
      रवि विजय उपखण्ड़ अधिकारी देसूरी


Leave a comment