पाली : सदर थाना प्रभारी को नाकाबंदी से परहेज

जागरूक टाइम्स 210 Mar 30, 2020


अपनी कुर्सी को जमे रहने की आदत से मजबूर

इनकी लापरवाही बन सकती है शहर के लिए सबक

पाली। जिले में कोरोना वायरस को लेकर राज्य सरकार के सख्त हिदायद के बाद जिला प्रशासन सजकता से बरती जा रही है। पुलिस महकमे द्वारा भी नाकाबंदी करते हुए बाहर से आ रहे लोगों की सघनता से जांच की जा रही है। ताकि कोई भी इस संक्रमण से ग्रसित व्यक्ति जिले में प्रवेश ना कर सके। तो वहीं डॉक्टरों की टीम भी स्कैनिंग करने में लगी है, लेकिन जिला मुख्यालय पर 2 दिन पूर्व 3 कारों में 32 से अधिक लोग पहुंच गए थे। शहर में प्रवेश करने के बाद मस्तान बाबा तिराहे पर इन लोगों को रोक कर जानकारी ली गई। तो पूरा प्रशासन सकते में आ गया था। जिससे साफ जाहिर होता है कि पाली पुलिस नाकाबंदी के नाम पर सिर्फ औपचारिकता निभाई है। जिसे देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक राहुल कोटोकी ने सख्त निर्देश करते हुए इस तरह की घटना होने पर तुरंत संबंधित थाना एसएचओ को निलंबित करने के भी आदेश दिए थे, लेकिन जिला पुलिस अधीक्षक के आदेशों की पाली पुलिस महकमे को परवाह नहीं है, रविवार को ऐसा ही नजारा देखने को मिला सदर थाना क्षेत्र अंतर्गत पणिहारी तिराहे पर नाकाबंदी के लिए बेरी कटिंग तो लगा दिए गए,

लेकिन पुलिस महकमा है कि अपनी कुर्सी और गाड़ी में बैठकर कृपया हाकने में लगे थे वहां आराम से बाहरी वाहन प्रवेश करते हुए निकलते दिखाई दे रहे थे। वहीं सदर थाना प्रभारी भंवर लाल पटेल अपने आराम फरमाने के लिए ओवर ब्रिज की छाव में कुर्सी लगाए बैठे थे। इससे लगता है कि उन्हें पुलिस की नाकाबंदी से परहेज है। प्रभारी को शायद जिला पुलिस अधीक्षक के आदेशों की परवाह ना होने की वजह से हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। जबकि उसी थाने का एक वाहन चालक इधर-उधर घूम कर लोगों को झुंड में न बैठने का संदेश दे रहा था। तो दूसरी और नाकाबंदी के दौरान फिल्म काली न करके अपने टिम को बाहर से आने वाले लोगों को रोकने का निर्देश देते हुए उनका नाम पता लिखने का आदेश दे रहे थे, जबकि देखा जाए तो पणिहारी चैराहे से कई वाहन अहमदाबाद, तखतगढ़ व जोधपुर से होते हुए शहर में प्रवेश कर चुके थे।

जबकि सदर थाना प्रभारी की यह लापरवाही शहर के लिए एक बहुत बड़ा आघात पहुंचा सकती है, लेकिन प्रभारी की लापरवाही को कुछ अधिकारी भी न जाने किस वजह से नजरअंदाज करते हुए नजर आ रहे हैं जब प्रभारी मीडिया कर्मियों को देखा तो अपनी कुर्सी छोड़कर नाकाबंदी के बेरी कटिंग की ओर जाते हुए नजर आए तथा एक बार राउंड निकालने के बाद फिर से अपनी कुर्सी पर आराम फरमाने बैठ गए। कुछ समय बाद यह ज्ञात हुआ कि जिला पुलिस अधीक्षक स्वयं राउंड पर निकले तो थाना प्रभारी कुछ समय के लिए अपनी ड्यूटी बजाने लग गए। थाना प्रभारी की यह लापरवाही पाली शहर की जनता के लिए एक सबक बन सकता है।

Leave a comment