पहाड़ी क्षेत्र में तेज बारिश के पानी की आवक से नाना नदी का पुल टुटा

जागरूक टाइम्स 494 Jul 20, 2018

सुमेरपुर। आदिवासी बाहुल्य नान बेडा के पहाड़ी क्षेत्र में शुक्रवार को हुई तेज बारिश के पानी की आवक से नाना नदी पर सुबह 6 बजे के करीब अचानक नाना नदी का तेज बहाव बढ़ा जो करीबन 2 घण्टे तक पुल से ऊपर तक चलता रहा । इसके बाद पानी का प्रवाह हल्का होने पर ग्रामीणों को पुल के दो टुकड़े होने की जानकारी मिली । सूचना पर बाली उपखंड प्रशासन मोके पर पहुंचा ।

इसके साथ ही सेंदडा नदी भी पुल के ऊपर चली । जहा करीबन 6 घण्टे आवागमन बाधित रहा तो बेडा नदी भी पुरे वेग से चली यातायात व्यवस्था और किसी भी तरह कोई व्यक्ति लापरवाही से बहते जल में ना उतरे को लेकर नाना पुलिस ने सभी बड़े नदी नालो पर पुलिस जवानो को नियुक्त किया । जहा पुलिस जवान यातायात और नदी देखने वालो की भीड़ को संतुलित करते नजर आये। बाली उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई और तहसीलदार विवेक व्यास भी नाना नदी पर पहुचे।

जहा उन्होंने टूटे पुल का मौका निरीक्षण करते हुए रात के अँधेरे में कोई अनजान वाहन पुल पर ना आ जाये । उसको लेकर पुल के दोनों तरफ बड़े बड़े अवरोधक रखवाए उसके साथ ही बाली उपखण्ड अधिकारी विश्नोई और तहसीलदार व्यास ने करीबन 6 घण्टो से पुल पर बह रही सेंदडा नदी का भी जायजा लिया ।
उपखण्ड अधिकारी ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियो से नाना सहित अन्य गांवो से निकलने वाले वाहनों के लिए अन्य मार्गो की जानकारी लेकर इस टूटे पुल पर पानी का दवाब कम होते ही वैकल्पिक उपायो से अवगत का निर्देश दिया।तेज बारिश के चलते बाली उपखण्ड के नाना नदी का नाना की तरफ का पुल का एक हिस्सा टूट गया । गत वर्ष भी यह पुल इसी जगह से बह कर गया था । जिसको सार्वजनिक निर्माण विभाग ने नव निर्माण की बजाय मिटटी पत्थर दाल कर इति श्री कर दी थी ।

जवाई बांध को सर्वाधिक जल सप्लाई करने वाली नाना नदी का पुल टूटने के बाद पुलिस ने सुरक्षा की दृस्टि से आवागमन रोक दिया है । पुलिस ने पुल के एक तरफ कटीली झाडिय़ा तो दूसरी तरफ बैरिकेट लगा दिए है।गौरतलब है की नाना नदी में उदयपुर सीमाव्रती सेई बांध का भी पानी आता है आज आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में भारी बारिश से नाना बेडा और सेलदा गांवो की नदी अचानक तूफान पर आई जिससे सुबह 6 बजे करीबन 3 फिट पानी पुल पर चलने की सुचना के बाद सुरक्षा की दृस्टि से नाना पुलिस थाना अधिकारी करनी दान चारण ने पुलिस जाब्ता नियुक्त किया।

गत वर्ष भी यह पुल इसी स्थान से टुटा था
गत वर्ष भी यह पुल टुटा था उसके बाद पुन: इसका पक्का निर्माण नही किया गया था अब पुल टूटने से करीबन 1 दर्जन से अधिक गांवो के लोगो को आवागमन में भारी परेशानी होनी है। नाना से जुड़े कही गांवो का संपर्क इस मुख्य मार्ग से होता है अब लोगो को सोंनगरी हनुमान जी मार्ग विरमपुरा या सेलदा होकर लोगो को वाहन निकालना होगा। यह पुल नाना भीलबस्ती कागद्ररा भीमाना कोयलवाव कुरण सहित आदिवासी क्षेत्र के करीबन 1 दर्जन से अधिक गांवो को जाने वाली बस इसी मार्ग से गुजरती है इतना ही नही रेलवे स्टेशन से जाने आने वाले यात्रियो के लिए भी महत्वपूण है ।

इनका कहना हे
प्रशासन और आपदा प्रबधक 24 घण्टे मुस्तेदी से कार्य कर रहा है अफवाहों पर ध्यान ना दे जरूरत पढऩे पर प्रसासन का सहयोग लेवे । दिनेश विश्नोई - उपखंड अधिकारी बाली

सभी नदी नालो पर पुलिस जवान मुस्तैद है व्यवस्था बनाये हुए है सभी से अपील बहते जल में ना उतरे ना वाहन को उतारे ना ही अफवाहों पर ध्यान दे जरूरत होने पर पुलिस से संपर्क करे  - करनीदान चारण
थाना अधिकारी नाना

Leave a comment