राणकपुर बान्ध ओवरफलों दीवार मरम्मत कराने के दिये निर्देश

जागरूक टाइम्स 109 Oct 9, 2019
राणकपुर/सादड़ी : बान्ध की वर्षो पुरानी ओवरफलों दीवार से लूज हूये पत्थरों में से छुट रहे फव्वारों की सूचना बाद देसूरी उपखण्ड़ अधिकारी राजलक्ष्मी गहलोत,जलसंसाधन विभाग सहायक अभियन्ता ललितमोहन दाधिच मौके पर पहूचे जिन्होने मौका मुआयना कर एसडीएम ने खतरें की आशंका को लेकर विभाग द्यह्य त्वरित मरम्मत कराने के निर्देश दियें हैं ज्ञात रहे वर्ष २०१७ में भी प्रथम ओवरफलो क्षतिग्रस्त दीवार को लेकर मीडिया ने शीर्ष समाचार प्रकाशित कर प्रशासन व विभाग का ध्यान आकर्षित करवाया वरना प्रशासन व विभाग ने हल्के में लेकर कोई मरम्मत कार्यवाही नहीं कर रहा था लगातार बारिश बाद खतरे की आशंका बढती देख ऐनवक्त बान्ध पर बहती चादर बीच क्षतिग्रस्त दीवार की मरम्मत करवाई।

राणकपुर बान्ध पर्वतमालाओं को बीच सीमेन्टेड़ दीवारें बनाकर आपस में जोड़ बान्ध का निर्माण करवाया जिसपर कुल ०३ओवरफलो दीवारे बनी हूई हैं ये वर्षो प्राचीन दीवारें नदी बहाव के साथ आयें विशालकाय पत्थर व चट्टानों की टक्कर दीवारों से कई जगह पत्थर लूज होकर इनमें दरारे बन गई जिनमें से पानी के फव्वारे छूट रहे हैं बारिश थमने के नाम नहीं ले रही हैं ऐसे में अरावली पर्वतमालाओं में बारिश होती हैं तो अनचाहे हादशे की आशंका से मुकर नहीं जा सकते हैं जिससे ग्रामीण दहशत में हैं.

इसको लेकर विभागीय अधिकारियो व एसडीएम को अवगत करवाया तो देसूरी एसडीएम राजलक्ष्मी गहलोत,तहसीलदार माधोराम पुरोहित,राजस्व निरीक्षक गोविन्दसिंह चम्पावत,पटवारी परसाराम राजपुरोहित,पालिका कनिष्ठ अभियन्ता शैलेन्द्र वर्मा,सहित एईएन ललित मोहन दाधिच घनश्याम रूपाराम देवासी मौके पर पहूचे एसडीएम ने विभागाधिकारियों से हालात्त पर विस्तृत जानकारी ली एईएन ने बताया कि स्थितियॉ फिलहाल नियन्त्रण बतलाई हैं सम्भावित आपदा को देखते वैकल्पिक मरम्मत करवाने भरोसा दिलाया सिंचाई बाद बान्ध ओवरफलो खाली होने पर मौका मुआयना कर दीवार नवनिर्माण एस्टीमेट तखमीना बनाकर बजट स्वीकृति पर निर्माण करवाया जायेगा। पूर्व पालिका उपाध्यक्ष सुरेशपुरी गोस्वामी ने बताया कि वर्ष २०१७में भी विभाग ने प्रथम क्षतिग्रस्त रपट का निर्माण बहती चादर दौरान करवाया गया।

Leave a comment