गाडी बेचने के बहाने बुला मारपीट कर कार व रूपये लुट मामले में चार आरोपियो गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 257 Sep 20, 2020

सुमेरपुर। थाना क्षेत्र के पोमावा सरहद पर गत 15 अगस्त को गाडी बेचने के िलए युवक को बुलाकर उसके साथ मारपीट कर कार व रूपये लुटने वाले 4 आरोपियो को िगरफ्तार करने मे पुलिस ने कामयाबी हासिल की। पुलिस ने वारदात का पर्दाफास करते हुए मुख्य आरोपी महिपालसिंह राजपुत, श्रवणसिंह राजपुत, महिपालसिंह राव एवं दिलीपसिंह रावणा राजपुत को गिरफ्तार किया। आरोपियो के कब्जे से पुलिस ने घटना के समय उपयोग में ली गई कार व पिस्टल मय दो जिन्दा कारतूस बरामद िकया। जबकि लुटी र्ग कार व रूपए पुर्व में पुलिस द्वारा बरामद किए जा चुके है।

पुलिस के अनुसार गत 15 अगस्त को प्रार्थी सुरेश कुमार पुत्र बाबुलाल जाति विश्नोई निवासी भाणिया की ढाणी पुलिस थाना शिवपुरा जिला पाली ने थाने मे रिपोर्ट देकर बताया कि मेरे दोस्त महेन्द्र को मैने एक एसकोडा कार खरीदने की बात बताई। उसके बाद फोन पर महेन्द्र ने उसके दोस्त से बात की। उसके बाद मै व मेरा दोस्त महेन्द्र चौधरी कार खरीदने सुमेरपुर आए। जहां पोमावा सरहद पर सुनजान जगह पर आरोपियो ने बुलाकर हमारे साथ मारपीट कर स्विफ्ट कार व रूपए लुट कर फरार हो गए।

पुलिस ने मामला दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया एवं आरोपियो को िगरफ्तार करने एक िवशेष टीम का गठन िकया।गठित टीम द्वारा मुखबिर तंत्र तकनीकी के आधार पर दिन-रात कड़ी मेहनत कर घटना के बाद से अब तक पीछा करते हुए तकनीकी तंत्रो द्वारा मुख्य आरोपी महिपालसिंह पुत्र स्व. जितेन्द्रसिंह जाति राजपुत निवासी बाला पुलिस थाला नोसरा हाल आन्नद नगर आहोर पुलिस थाना आहोर जिला जालोर, श्रवणसिंह पुत्र शम्भुसिंह जाति राजपुत निवासी जोगावा पुलिस थाना आहोर जिला जालोर, महिपालसिंह पुत्र पाबुसिंह जाति राव निवासी गोदन पुलिस थाना आहोर जिला जालोर एवं दिलीपसिंह पुत्र कानसिंह जाति राजपुत निवासी बीसलपुर पुलिस थाना सुमेरपुर को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपियो से घटना के समय उपयोग में ली गई कार व पिस्टल मय दो जिन्दा कारतूस की भी बरामदगी की गई। इनके द्वारा लुटी गई कार व रूपए पुलिस ने पूर्व मे खिवांदी के समीप एक सुनसान जगह से बरामद कर िलए थे। पुलिस टीम मे सीआई रविन्द्रसिंह, उप निरीक्षक नरसीराम, कांस्टेबल भंवरलाल, रूपसिंह, प्रकाश जाणी, टीकमचन्द, रामरतन व राकेश एवं सहयोगी मुआ राजेन्द्रसिंह, चालक कांस्टेबल मनोहरसिंह व रमेश कुमार का सहयोग रहा।


Leave a comment