चौपड़ा भाई-बहन की कविताएं वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज

जागरूक टाइम्स 250 Jul 10, 2020

पाली । जैनाचार्य, आचार्य श्री महापज्ञ के जन्म शताब्दि वर्ष (1920-2020) के उपलक्ष्य में अणुव्रतसेवी डॉ. ललिता जोगड़ व उनकी टीम द्वारा आचार्य महाप्रज्ञ के जीवन पर आधारित कविताओ के संग्रह को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज करवाने के लिए अंतराष्ट्रीय स्तर पर रचनाओं की मांग की गईं, जिसमे भारत के 25 राज्यों व विभिन्न विदेशी राष्ट्रों के प्रतिभागियों ने एवं जैन समाज के साधु- साध्वियों द्वारा अपनी रचनाएं प्रेषित की गई । उनमें से 1121 रचनाओं का चयन किया गया जिसमें पाली से सिर्फ चौपड़ा भाई-बहन की कविताओं को चयनित किया गया । अधिवक्ता अरिहन्त चौपड़ा पुत्र मनोहर लाल चौपड़ा , उनकी बहन कटक निवासी श्रीमति वर्षा चौपड़ा मरोटी पत्नी सुरेंद्र मरोटी जो जैन तेरापंथ समाज में उपासिका भी है की रचनाएं “महाप्रज्ञ” नाम की पुस्तक में संकलित व प्रकाशित कर उसे वर्ल्ड रिकॉर्ड हेतु भेजे जाने पर , इस कविता संग्रह को द ब्रिटिश वर्ल्ड रिकॉर्ड लन्दन, गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड, सुप्रीम वर्ल्ड रिकॉर्ड, एशियन वर्ल्ड रिकॉर्ड, इंडियन स्टार वर्ल्ड रिकॉर्ड आदि 27 अंतराष्ट्रीय व राष्ट्रीय स्तर के रिकॉर्ड में दर्ज किया गया और चौपड़ा भाई-बहन को सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया । देश के विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री, राज्यपाल व जैनाचार्यों द्वारा इस संकलन के प्रकाशित होकर विभिन्न वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होने पर बंधाई सन्देश भी प्रेषित किये है तथा चौपड़ा के चयन पर तेरापंथ युवक परिषद, पाली के अध्यक्ष अभिषेक दुग्गड़, समाजबंधुओं, साथी अधिवक्तागण व परिजनों ने खुशी जाहिर की ।


Leave a comment