लाखों बच्चों के निवाले पर अफसरों-ठेकेदारों का डाका!

जागरूक टाइम्स 471 Jul 31, 2018

नागौर में पोषाहार घोटाला, उपनिदेशक समेत तीन ठेकेदार गिरफ्तार

- पांच जिलों की एसीबी ने 11 जगह मारे छापे, 50.65 लाख रुपए जब्त

जयपुर/नागौर @ जागरूक टाइम्स

महिला व बाल विकास विभाग में एक और भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। आंगनबाड़ी व स्वयं सहायता समूह से बंटने वाले स्कूली बच्चों के पोषाहार पर विभाग के अफसरों ने ठेकेदारों के साथ मिल कर डाका डाला है। शिकायत मिलने के बाद एसीबी मुख्यालय समेत अजमेर, टोंक, भीलवाड़ा व नागौर की टीमों ने नागौर, डेगाना, परबतसर, कुचामन, रीया व मेड़ता में 11 जगह छापे मारे हैं। सीडीपीओ व ठेकेदारों के मिलीभगत के इस खेल में लाखों बच्चों का निवाला कमीशनखोरी की भेट चढ़ गया। एसीबी ने नागौर महिला बाल विकास विभाग की उपनिदेशक उषारानी समेत तीन ठेकेदारों को गिरफ्तार किया है।

एसीबी के डीजी आलोक त्रिपाठी ने बताया कि नागौर में महिला विकास विभाग की शिकायत मिली थी कि स्कूली बच्चों को बंटने वाले पोषाहार को विभाग स्वंय सहायता समूह की बजाय ठेकेदारों के मार्फत बांट कर बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार कर रहा है। उन्होंने बताया कि शिकायत के सत्यापन के बाद अजमेर एसपी कैलाश चंद विश्नोई के नेतृत्व में जयपुर, अजमेर, नागौर, टोंक व भीलवाड़ा एसीबी की 11 टीमों ने नागौर, मेड़ता, कुचामन, डेगाना व परबतसर में 11 जगह सीपीडीओ कार्यालय, ठेकेदारोंं के दफ्तर व घर पर छापा मारा।


कैलाश विश्नोई ने बताया कि एसीबी की कार्रवाई में नागौर महिला बाल विकास विभाग की उपनिदेशक उषारानी के दफ्तर व घर से सरकारी फाइलें व पोषाहार ठेकेदार किशोर बिन्द्रा द्वारा दी जा रही चालीस हजार की घूस की रकम बरामद की है। उषारानी के दफ्तर से भी 15 हजार रुपए बरामद हुए हैंं। इसी तरह नागौर में अधिकृत पोषाहार ठेकेदार हरिसिंह के के घर से पचास लाख रुपए, सरकारी रिकार्ड बरामद हुआ है। उसके दफ्तर से भी एसीबी ने दस हजार रुपए नकद, एक गाड़ी, पोषाहार का रिकार्ड व अन्य सरकारी दस्तावेज बरामद किए हैं। इसी तरह ठेकेदार योगेन्द्र दायमा के घर से नकदी, सरकारी रिकार्ड, पोषाहार व एक पिकअप गाड़ी बरामद की गई है। एसीबी ने पूरी कार्रवाई में उपनिदेशक उषारानी समेत तीनों ठेकेदारों को भ्रष्टाचार व पोषाहार में अनियमितता के मामले में गिरफ्तार किया है।

Leave a comment