यह है कलयुग का श्रवण, मां को कंधे पर बैठा बाबा के दर्शन करने निकला युवक

जागरूक टाइम्स 293 Sep 6, 2018

- पूरे रास्ते हो रहा जोरदार स्वागत, भीलवाड़ा से साढ़े चार सौ किलोमीटर का सफर तय कर पहुंचेगा रामदेवरा

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

 लोक देवता बाबा रामदेव का मेला इन दिनों परवान पर है। देशभर से रोजाना हजारों श्रद्धालु अलग-अलग माध्यम से बाबा के दर्शन करे पहुंच रहे है। इन सभी के बीच एक युवक अपनी मां को कंधे पर बैठा बाबा के दर्शन कराने पैदल बढ़ा चला जा रहा है। यह आधुनिक श्रवण कुमार है भीलवाड़ा जिले का दिनेश मारू। चौदह साल बाद आवाज लौटने पर बाबा से मांगी मन्नत पूरी होने पर यह साढ़े चार सौ किलोमीटर का सफर अपनी मां को कंधे पर बैठा तय करेगा।

यह भी पढ़े : दलितों के सामने आ खड़े हुए सवर्ण, यह किसकी साजिश, किसका खेल? 

भीलवाड़ा जिले के शंभूगढ़ निवासी 22 वर्षीय दिनेश गुरुवार को अपनी मां को कंधे पर उठाए जब जोधपुर जिले के कापरड़ा क्षेत्र में पहुंचा तो लोग देखते रह गए। चौदह लोगों के साथ बाबा के जयकारे लगाते हुए दिनेश अपनी मां को कंधे पर बैठा आगे बढ़ रहा है। उसे देखने जगह-जगह लोग उमड़ रहे है। सभी स्थान पर लोग उसका जोरदार स्वागत कर रहे है। विष्णु की ढाणी पहुंचने पर बड़ी संख्या में महिलाओं ने माला पहना कर उसका स्वागत किया। गांव के सरपंच गायडऱाम विश्नोई ने साफा बंधवाया।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे व्हाट्स ऐप | फेसबुक 

दिनेश ने बताया कि वह पहले स्पष्ट नहीं बोल पाता था। इस कारण आठ वर्ष की आयु में उसने बाबा रामदेव से मन्नत मांगी थी कि यदि उसकी आवाज सही हो जाएगी तो वह अपनी मां को कंधे पर बैठाकर रामदेवरा स्थित मंदिर में दर्शन करने पैदल जाएगा। चौदह वर्ष बाद उसकी आवाज एकदम ठीक हो गई। इस पर वह अपनी मां को कंधे पर बैठा बाबा के दर्शन करने निकल पड़ा। साढे़ चार सौ किलोमीटर की दूरी तय कर मां-बेटे रामदेवरा पहुंचेंगे। वह 28 अगस्त को अपनी बहन प्रियंका और गांव के चौदह लोगों के साथ बाबा के दर्शन करने रवाना हुआ था।

यह भी पढ़े : रामदेवरा मेले के लिए तीन मेला स्पेशल ट्रेन 

Leave a comment