शिक्षिका ने बीमारी से परेशान होकर लगाया फंदा, किडनियां खराब थी

जागरूक टाइम्स 170 Aug 31, 2018

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाना क्षेत्र में रहने वाली सरकारी स्कूल की एक अध्यापिका ने शुक्रवार को अपने घर में फंदा लगाकर जान दे दी। प्रथम दृष्टया मामला बीमारी से परेशान होना सामने आया है। उनकी पोस्टिंग बालेसर के बेलवा गांव में बताई गई है। परिजन मूल रूप से मद्रास के है। उनके आने पर शनिवार को आगामी कार्रवाई की जाएगी। शव को मथुरादास माथुर अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है। 


यह भी पढ़े : निर्वतमान छात्रसंघ अध्यक्ष कांता ग्वाला का भाई गिरफ्तार

चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाने के प्रशिक्षु एसआई गोविंदलाल ने बताया कि मूल रूप से मद्रास के केरला की रहने वाली सोनूू देवी नायर (53) अविवाहित थी और बालेसर के बेलवा गांव में सरकारी स्कूल में अध्यापन करवाती थी। वह अपनी बहन के साथ यहां पर रहती थी। उनकी बहन भी सरकारी स्कूल की अध्यापिका है। वह आज पांचला गई हुई थी। घर पर केवल सोनू देवी नायर ही थी। इस बीच उन्होंने अपने घर सीएचबी सेक्टर 21/355 में पंखे के हुक में फंदा लगा लिया और जान दे दी। 

यह भी पढ़े : कांग्रेस ने घोषित की दो जिलों और 50 ब्लॉकों की कार्यकारिणी


घटना का पता पड़ौसी को चलने पर उनकी बहन को बुलाया गया और बाद शाम साढ़े चार बजे पुलिस को सूचना दी गई। इस पर एसीपी प्रतापनगर फूलचंद मीणा, चौहाबो के एसआई गणपतलाल आदि वहां पहुंचे। घटना स्थल से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें सोनू देवी ने मर्जी से मरना बताया और किसी को परेशान नहीं करने की बात कही है। माफी भी मांगी है। उनकी दोनों किडनियां खराब होना बताया जाता है। एसआई गोविंद लाल के अनुसार मृतका के परिजन को मद्रास सूचना दी गई है। उनके जोधपुर पहुंचने के बाद शनिवार सुबह कार्रवाई के शव सौंपा जाएगा।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे फेसबुक | इंस्टाग्राम  | ट्विटर 

Leave a comment