लंदन में जीवंत हुआ राजस्थान

जागरूक टाइम्स 135 Jun 24, 2019

जोधपुर(ईएमएस)। थाने काजलियो बना ल्यू..., थाने नैना में बसा ल्यू..., "घुमेरदार लहंगो..., खड़ी नीम के नीचे एकली... जैसे राजस्थानी गीतों से रविवार को लंदन गंूज उठा। लंदन के वेरमॉन्ट हाई स्कूल के ऑडिटोरियम में द राजस्थानी एसोसिएशन, यूके (टीआरए यूके) की ओर रविवार को आयोजित एनुअल फेस्ट जीमण 2019 का। शुरूआत तनोटराय की आरती आज मोरे कंठ, अम्बे बरसो मात भवानी से हुई। राजस्थानी कल्चर की तरह ही लंदन में एंट्री गेट पर रंग-बिरंगे साफे पहने पुरुष और हाथों में तिलक की थाली लिए राजपूती पोशाक पहने महिलाएं मेहमानों की अगवानी कर रहे थे।

मेहमानों का तिलक लगाकर राजसी अंदाज में स्वागत किया गया। जीमण में एंट्री गेट से अंदर तक राजस्थानी थीम से पोस्टर व कटआउट से सजाया गया था। बच्चों के लिए यहां पतंगे भी सजी थीं। फूड में दाल-बाटी, चूरमा के साथ मावा कचौरी और प्याज की कचौरी ने वहां रहने वाले राजस्थानियों को मारवाड़ की याद दिला दी। डिशेज खट्टे-मीठे, अचार, अदरक व लहसुन की चटनी, बेल, आंवला व सेब का मुरब्बा आदि सर्व किया गया। जीमणवार में ज्यादातर महिलाएं राजपूती पोशाक और जूलरी में सज-धज कर पहुंची। आड, नथ, रखड़ी और बाजूबंद पहने ये महिलाएं पूरी तरह राजस्थानी रंग में रंगी थीं तो पुरूष भी जोधपुर कोट, साफा पहने सजे-धजे थे। चीफ गेस्ट के हाथों से (टीआरए यूके) की पत्रिका जीमण के सेकंड एडीशन का विमोचन भी किया गया।


Leave a comment