सैलून चलाने वाले युवक की चाकुओं से गोदकर निर्मम हत्या

जागरूक टाइम्स 700 Aug 31, 2018

- सुनसान स्थान पर मिला शव, मोर्चरी के बाहर एक घंटे रास्ताजाम कर किया प्रदर्शन 

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

करवड़ थाना क्षेत्र में शुक्रवार सुबह सैलून चलाने वाले एक युवक का रक्त रंजित शव मंडलनाथ-आईटीबीपी रोड पर मिला। उसकी चाकुओं से गोदकर निर्मम हत्या की गई है। उसके शरीर पर चाकुओं के गहरे घाव की निशान होने के साथ ही गला रेतना प्रतीत हो रहा है। इस घटना से मृतक के परिजन और रिश्तेदारों में रोष फेल गया। घटना को लेकर इन लोगों ने महात्मा गांधी अस्पताल की मोर्चरी के बाहर एक घंटे तक रास्ता रोककर हत्यारों को गिरफ्तारी की मांग के साथ प्रदर्शन किया। पुलिस के उच्चाधिकारियों ने समझाइश कर मामला शांत करवाया और अज्ञात हत्यारों की तलाश आरंभ करवाई। दोपहर में शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया गया। करवड़ पुलिस थाने में हत्या का प्रकरण दर्ज करवाया गया है। 

जानकारी के अनुसार दईजर के पास टूंट की बाडी में सरकारी स्कूल के हैड मास्टर कालूराम सैन के पुत्र राकेश सैन (32) और छोटा भाई महेंंद्र मिलकर मंडलनाथ रोड पर सैलून की दुकान मिस्टर हैयर ड्रेसर के नाम से चलाते है। गुरुवार रात करीब आठ बजे राकेश सैन अपनी बाइक लेकर दुकान से निकल गया था। महेंद्र दुकान पर ही था। रात तक राकेश सैन अपने घर नहीं लौटा। शुक्रवार सुबह सूचना मिली कि मंडलनाथ-आईटीबीपी रोड पर कटी कॉलोनी के निर्जन स्थान पर एक युवक का रक्त रंजित शव पड़ा है। इस सूचना पर करवड़ थानाधिकारी राजूराम आदि वहां पहुंचे। प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लगने पर थानाधिकारी राजूराम ने अपने उच्चाधिकारियों को सूचित किया। तब एसीपी मंडोर नविता खोखर आदि भी पहुंच गए। शव की पहचान राकेश सैन के रूप में की गई  

शरीर पर एक दर्जन घाव

प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लगने के साथ मृतक के शरीर पर दस बारह घाव मिले है जो किसी नुकीली वस्तु के प्रतीत हुए। यह चाकू हो सकता है। गला रेता जाना भी लगा है। मारने से पहले राकेश सैन के मारपीट की गई। वहां संघर्ष के निशान मिले हैं। पुलिस को घटनास्थल पर कुछ खाली शराब की बोतलें मिली है। संदेह जताया जा रहा है हत्यारों की संख्या दो से तीन हो सकती है। इसमें परिचित भी हो सकता है। 

कॉल डिटेल की जांच

पुलिस ने मृतक के मोबाइल से कॉल डिटेल पर तफ्तीश आरंभ की है। हत्या रात आठ बजे बाद ही करना हो सकता है, ऐसा पुलिस का माननाा है। मोबाइल कॉलिंग की जांच की जा रही है। आरंभिक पड़ताल में बताया गया कि घटनास्थल के पास में ही मृतक का खेत आया हुआ है। हत्या की वजह क्या रह सकती है पुलिस इस बारे में परिजन से भी पता लगाने का प्रयास कर रही है। 

गुस्साए परिजन व रिश्तेदार

इस घटना को लेकर सैन समाज के लोगों मेें रोष फैल गया। उन्होंने हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग करते हुए सुबह परिजन व रिश्तेदारों संग महात्मा गांधी अस्पताल की मोर्चरी के बाहर प्रदर्शन करने के साथ एक घंटे तक रास्ता जाम कर दिया। एसीपी पश्चिम कमलसिंह तंवर, मंडोर एसीपी नविता खोखर, करवड़ थानाधिकारी राजूराम, सरदारपुरा पुलिस आदि ने मिलकर परिजन से समझाइश कर मामला शांत करवाया और हत्यारों को जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। तब जाकर परिजन व रिश्तेदार शांत हुए।

Leave a comment