लेक्चरर के डांटने पर की थी आत्महत्या, सुसाइड नोट मिला

जागरूक टाइम्स 692 Jul 27, 2018

- एम्स छात्रा की मौत का मामला: परिजनों ने दर्ज करवाया हत्या का मामला

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

एम्स में छात्रा की संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस ने परिजनों की रिपोर्ट पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। दूसरी ओर छात्रा के कमरे से मिले सुसाइड नोट में किसी लक्ष्य के डांटने पर आत्महत्या करने की बात लिखी हुई है। जोधपुर एम्स में प्रथम वर्ष की छात्रा अलवर निवासी रश्मि यादव का शव कल रात हॉस्टल में उसके कमरे मेंं छत से लटका हुआ पाया गया था।

अलवर से पहुंचे रश्मि के पिता रामनिवास और अन्य परिजनों ने शुक्रवार सुबह मोर्चरी में शव देखा तो उसके चेहरे और सीने पर खून देखकर हत्या की आशंका जताई। पिता ने पुलिस को हत्या की रिपोर्ट दी। इस बीच कमरे से रश्मि का लिखा एक सुसाइड नोट मिला जिसमें उसने किसी लेक्चरर को संबोधित करते हुए लिखा है 'सर ना तो मेरी स्कूल खराब थी और ना ही मेरे मैनर्स खराब है।' उसने अपने माता-पिता और भाई से आत्महत्या के लिए माफ़ी भी मांगी है। 

यह भी पढ़े : पेड़ से फंदा लगाकर युवक ने की आत्महत्या 


सुसाइड नोट से जाहिर होता है कि रश्मि को किसी लेक्चरर ने डांटा था और उसके किसी खराब स्कूल से आने और मेहनत खराब होने की बात कही थी। इससे आहत होकर रश्मि ने सुसाइड कर ली। कल रात उसके पास के कमरों में रहने वाली छात्राओं ने जब उसे खाने के लिए बुलाने के लिए दरवाजा खटखटाया तो कोई जवाब नहीं मिला। काफी देर दरवाजा खटखटाने के बाद छात्राओं ने हॉस्टल वार्डन को सूचना दी। वार्डन ने दो सिक्योरिटी गार्ड को बुलवाकर कमरे का दरवाजा खुलवाया और फंदे से लटकी हुई रश्मि को एम्स की इमरजेंसी में ले गए।

यह भी पढ़े : बहु के साथ दुष्कर्म के आरोपी ससुर को सात वर्ष का कारावास 

इमरजेंसी में उसे सीपीआर दिया गया। पुलिस का कहना है कि सीपीआर देने की वजह से उसके मुंह से निकला खून ही चेहरे और सीने पर लगा हुआ है। परिजन इसे मानने को तैयार नहीं हुए और हत्या की आशंका जताई। रश्मि के पिता रामनिवास ने रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि अगर हत्या नहीं है तो उनकी बेटी को आत्महत्या के लिए मजबूर किया गया है। फिलहाल पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। रश्मि का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।

Leave a comment