मौज मस्ती के लिए चुराते थे मोटर साइकिलें

जागरूक टाइम्स 427 Nov 22, 2018

- शातिर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश, सरगना व खरीदार मिस्त्री हिरासत में

- दो बाल अपचारी संरक्षण में, 20 मोटर साइकिल, तीन इंजन और तीन चैसिस बरामद

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

महानगर की मंडोर पुलिस ने एक शातिर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए सरगना व चोरी की बाइक खरीदने वाले मिस्त्री को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही दो बाल अपचारियों को भी संरक्षण में लिया है। पूछताछ में पता चला है कि ये लोग मौज मस्ती व जरूरतों का सामान खरीदने के लिए बाइक चोरी करते थे। बाद में उसे औने-पौने दामों में बेच देते थे। पुलिस ने उनकी निशानदेही और कब्जे से चोरी की बीस मोटर साइकिलें, तीन इंजन और तीन चैसिस बरामद किए है। दोनों बाल अपचारियों को बाल सुधार गृह भिजवाया गया है।

पुलिस उपायुक्त (पूर्व) डॉ. अमनदीपसिंह कपूर ने बताया कि जोधपुर कमिश्नरेट में बढ़ती हुई मोटर साइकिल चोरी की घटनाओं को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (पूर्व) श्रीमती सरिता सिंह के निर्देशन में सहायक पुलिस आयुक्त मंडोर श्रीमती नविता खोखर के सुपरविजन में मंडोर थानाधिकारी आनन्द कुमार के नेतृत्व में उपनिरीक्षक सोमकरण, एएसआई मनोहरसिंह, हैड कांस्टेबल सवाईसिंह, कांस्टेबल सुभाष, सुशील, जयपाल और सुधीर डारा की एक टीम गठित की गई। टीम ने चोर गिरोह की तलाश व पतारसी की तथा विधि से संघर्षरत दो बालकों को संरक्षण में लेकर वैज्ञानिक तरीके से पूछताछ कर एक अपाची मोटर साइकिल बरामद की। पूछताछ के बाद इस चोर गिरोह के सरगना नागौर जिले के कोतवाली थानान्तर्गत किसान छात्रावास के पास नया तेलीवाड़ा हाल रातानाडा स्थित सुभाष चौक निवासी चेतन प्रकाश उर्फ चिंटू पुत्र रतनलाल घांची को गिरफ्तार किया।

चोरी में बालकों का उपयोग

पूछताछ में उसने बताया कि वह बालकों से अलग-अलग स्थानों से गाडिय़ां उठवाता और बालेसर जाकर कालूजी का बेरा बालेसर सत्ता निवासी मिस्त्री चम्पाराम उर्फ चन्दन पुत्र सुजाराम माली को औन-पौने दामों में डिमांड अनुसार बेच देता। वह बालकों को चोरी के बदले कुछ रुपए दे देता था। वह लोग चोरी की मोटर साइकिलें बेचने से प्राप्त रुपए मौज मस्ती, फैशनेबल कपड़ों व स्वयं की जरूरतों में खर्च करते थे। इस पर पुलिस ने मिस्त्री चंपाराम को भी गिरफ्तार किया। उसने बताया कि चोरी की मोटर साइकिल प्राप्त होने पर उनसे आवश्यकतानुसार पुर्जे निकालकर ग्राहकों को सैकेंड हैंड पार्टस बताकर बेच देता था। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने चोरी हुई मोटर साइकिल रॉयल इनफील्ड व संदिग्ध अवस्था में अन्य जगहों से चुराई गई कुल 18 मोटर साइकिलें, 3 इंजन, 3 चैसिस तथा खुले हुए प्लास्टिक पार्टस, साइलेंसर व अन्य पार्टस को धारा 102 सीआरपीसी में बरामद किए।

यहां से चुराई मोटर साइकिलें

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि ज्यादातर गाडिय़ां जिला पश्चिम के सरदारपुरा, प्रतापनगर, चौपासनी हाउसिंग बोर्ड, शास्त्रीनगर एवं जिला पूर्व के मंडोर एरिया से चुराई है। पुलिस ने विधि से संघर्षरत बालकों को बाल सम्प्रेक्षण गृह में भिजवाया है और मुख्य अभियुक्त चेतन प्रकाश उर्फ चिंटू व खरीदार चम्पाराम उर्फ चन्दन से गहनता से अनुसंधान जारी है। उनसे और भी खुलासे होने की उम्मीद है।

Leave a comment