जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव : एनएसयूआई के सुनील चौधरी बने अध्यक्ष

जागरूक टाइम्स 649 Sep 12, 2018

- एबीवीपी के मूलसिंह को मात्र 9 वोट से हराया, रात 2 बजे तक चली पुनर्मतगणना

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय (जेएनवीयू) में छात्र संघ चुनाव में अध्यक्ष पद पर कड़ा मुकाबला देखने को मिला। कई उतार -चढ़ाव और देर रात तक चली भारी जद्दोजहद के पश्चात एनएसयूआई के सुनील चौधरी ने महज 9 वोट से विजयी रहे। उन्होंने एबीवीपी के मूलसिंह को पराजित किया।

वीडियो देखे : बाड़मेर : गहने लुटे, पांच घायल

दरअसल, जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय छात्रसंघ और विवाद का पुराना नाता रहा है। यही बड़ी वजह रही कि जहां राजधानी जयपुर सहित समूचे प्रदेश के विश्वविद्यालयों के छात्रसंघ चुनाव के परिणाम शाम तक घोषित हो गए, वहीं जेएनवीयू में मंगलवार देर रात तक मतगणना जारी रही। यहां अध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के सुनील चौधरी व अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के मूलसिंह राठौड़ में कड़ा मुकाबला रहा। मंगलवार देर रात तक मतगणना हुई। पांचवें और अंतिम राउंड की मतगणना में खारिज मतों को लेकर उपजे विवाद के बाद पुनर्मतगणना शुरू हुई। 

यह भी पढ़े : महिला कर्मचारी से रेप केस में एफसीआई का महाप्रबंधक गिरफ्तार

देर रात करीब दो बजे पुनर्मतगणना पूरी होने के बाद एनएसयूआई के सुनील चौधरी को विजयी घोषित किया गया। उन्होंने मूल सिंह को 9 मतों से हराया। उन्हें रात सवा दो बजे शपथ दिलाई गई। मूलसिंह की आपत्ति पर केवल सुनील चौधरी के मतों की पुनर्मतगणना की गई। पहले हुई मतगणना में सुनील को 4198 मत मिले थे। री-काउंटिंग में उसमें से 26 मत खारिज हो गए। वहीं दो मत मूलसिंह के खाते में चले गए। इसके बाद देर रात सवा दो बजे सुनील चौधरी 9 वोट से विजयी घोषित किए गए। एनएसयूआई समर्थकों ने देर रात पटाखे छोड़ खुशी जताई।

यह भी पढ़े : न्यायिक सहायक पर जानलेवा हमला

खारिज मतों पर आपत्ति

सूत्रों के अनुसार 538 मत खारिज किए गए। बड़ी संख्या में खारिज मतों पर एबीवीपी के मूलसिंह ने आपत्ति दर्ज करवाई। उनका आरोप था कि उनके समर्थन में दिए गए वोट ज्यादा खारिज किए गए हैं। इस बात पर विवाद गहराया तो मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रो. अवधेश शर्मा ने पुनर्मतगणना का फैसला लिया। इस दौरान भारी पुलिस जाब्ता के साथ वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर तैनात रहे। मतगणना में पहले दो राउंड में मूलसिंह आगे चल रहा था लेकिन तीसरे राउंड से धीरे-धीरे सुनील ने बढ़त लेनी शुरू की।

3 राउंड के बाद मूलसिंह की बढ़त करीब 330 वोट की थी, जो चौथे राउंड समाप्त होने के बाद घटकर 146 रह गई। पांचवें राउंड में सुनील चौधरी 39 मत से विजयी रहा था। देर रात सुनील चौधरी को विजेता घोषित करते ही उनके समर्थक जश्न में डूब गए। समर्थकों ने जमकर पटाखे फोड़े और देर रात तक नाचते रहे। बाद में पुलिस कड़े सुरक्षा घेरे में सुनील चौधरी और मूलसिंह को उनके घर तक छोडऩे गई। सुनील चौधरी के साथ उनके समर्थकों को दो किलोमीटर लम्बा काफिला उनके घर तक पहुंचा।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे व्हाट्स ऐप | फेसबुक 

Leave a comment