बहनों ने भाई की कलाई पर बांधा रक्षा सूत्र

जागरूक टाइम्स 143 Aug 26, 2018

- लंबी उम्र की कामना की, भाइयों ने गिफ्ट के साथ दिया जिंदगीभर की रक्षा का वचन

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

भाई-बहन के प्रेम और स्नेह का प्रतीक रक्षा बंधन पर्व रविवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। बहनों ने अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधकर भाई-बहन के प्यार को उजागर किया। भाइयों ने भी बहनों को रक्षा का वचन देते हुए उपहार दिए। रक्षासूत्र बांधने का दिनभर मुहूर्त होने के कारण बहनों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। बहनों को अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधने के लिए कई साल बाद पूरा दिन मिला।
बहनों ने रक्षा बंधन पर्व पर थाली सजाकर, दीप जलाकर, भाई के माथे पर कुमकुम का तिलक लगाकर और मिठाई से मुंह मीठा करवाकर अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र के रूप में राखी बांधी। भाइयों ने भी अपनी बहनों को उपहार के साथ जीवनभर की रक्षा का वचन दिया। इस बार राखी बांधने के लिए बहनों को पूरे दिन का समय मिला। चार साल बाद यह पहला अवसर था जब रक्षा बंधन पर भद्रा का साया नहीं था। इस बार भद्रा सूर्योदय से पूर्व ही समाप्त हो गई थी। इस कारण राखी बांधने में किसी प्रकार से भद्रा का दोष नहीं था। सूर्योदय से सूर्यास्त तक पूरे दिन भद्रा रहित समय होने के कारण बहनों ने अपनी सुविधानुसार भाइयों को राखी बांधी।

जोरों पर रही खरीदारी

रक्षा बंधन पर्व पर मिठाई व उपहार खरीदने वालों की दुकानों पर भीड़ नजर आई। आज जमकर राखी, मिठाई व उपहार खरीदे गए। रक्षाबंधन पर शहरवासी एक दूसरे को शुभकामनाएं देते दिखाई दिए। सोशल मीडिया पर भी राखी की शुभकामनाओं का तांता लगा रहा। शहर में गंगा-जमुना संस्कृति नजर आई। कई मुस्लिम बहनों ने भी अपने मुंह बोले भाइयों की कलाइयों तो हिन्दू बहनों ने अपने मुस्लिम भाइयों के हाथ पर राखी बांधी।

गहलोत ने बंधवाई राखी

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हर वर्ष की भांति इस बार जोधपुर में रहने वाली अपनी बहन से राखी बंधवाना नहीं भूले। भारी व्यस्तता के बीच भी वह हर साल राखी बंधवाने के लिए जोधपुर आते है। रविवार को भी वे रक्षा बंधन पर्व पर जोधपुर में ही थे। वे सुबह वायुमार्ग से जोधपुर पहुंच गए थे। वे महामंदिर के भीतर रहने वाली अपनी बहन विमला देवी के यहां गए और बड़ी आत्मीयता के साथ उनसे राखी बंधवाई। यह उनका पिछले कई सालों से नियम है। अपनी बहन के यहां उन्होंने नजदीकी रिश्तेदारों से मुलाकात की और हालचाल जाने। इस दौरान उनके साथ कुछ कांग्रेसी नेता भी थे।

Leave a comment