जैसलमेर में खेतों की ओर चले धरतीपुत्र

जागरूक टाइम्स 174 Aug 13, 2019

जैसलमेर : जिले में जिन स्थानों पर बारिष हो गई है, वहां पर किसान कृषि संबंधी उपकरण संभालने में जुटे हुए है तो जहां बारिष का इंतजार है वहां पर भी किसान खेतों की सार-संभाल में जुट गए है। सरहदी जैसलमेर जिले में मानसून की दस्तक के साथ ही धरतीपुत्रों ने खेतों की ओर कूच कर दिया है। रामगढ, चांधन, नाचना, फतेहगढ, नोख सहित अन्य स्थानों पर बारिष के बाद किसान उत्साहित नजर आ रहे है और अच्छे जमाने की आस लगाए बैठे है। किसानों के लिए मानसून की यह बारिष तैयारियों का संदेष लेकर आई है। गांवों में जहां किसान नए उत्साह से खेतों में जुटने लगे है, वहीं जैसलमेर शहर में अनेक किसान अपने ट्रैक्टरों की छोटी-बडी खराबियां ठीक करवाने पहुंचने लगे है। गत दो दिनों से शहर के मदरसा रोड पर वाहन रिपेयरिंग की दुकानों के आगे टैªक्टर नजर आ रहे है।

साल दर साल पडने वाले अकाल का दंष झेलने वाले जिलें के किसान बारिष होते ही इस आस में जुट जाते है कि इस बार अच्छी बारिष होने से अच्छा जमाना आएगा। मानसून की दस्तक के साथ ही जिले के किसान भी खेतों की ओर रूख करने लगे है, जिससे अब तक वीरान नजर आने वाले खेतों में हलचल शुरू हो गई है। किसान और उनके परिवारजन खेत में भूमि उपचार कर बारिष होने पर बुवाई की तैयारी में जुट गए है। वहीं दूसरी तरफ कई किसान अपने खेतों में उगी अनावष्यक झाडियों को काटने का कार्य कर रहे है।

मानसून की अच्छी बारिष की आस में बाजारों में भी चहल-पहल शुरू हो गई है। खाद-बीज की दुकानों पर किसानों को बीज आदि की खरीदारी करते हुए देखा जा सकता है। वहीं दूसरी तरफ टैªक्टर मालिक अपने कृषि यंत्रों की सार-संभाल करने में जुट गए है, जिससे मोटर गैरेज, वेल्डिंग की दुकानों के आगे टैªक्टरों की लाइन लगने लगी है। जिले में अच्छी मानसून की उम्मीद में पषुपालक भी उत्साहित नजर आ रहे है। पषुपालकों को उम्मीद है कि बारिष होने से पषुधन के लिए पीने के पानी की समस्या से निजात मिलेगी। वहीं बारिष में अच्छा चारा उगने की उम्मीदें जगी है। बारिष की उम्मीद में पषुपालकों की थोडी चिंता दूर हुई है।


Leave a comment