सोशल मीडिया पर माहौल बिगाड़ा तो खैर नहीं : पुलिस आयुक्त

जागरूक टाइम्स 400 Aug 3, 2018

- आईपीएस अधिकारी आलोक वशिष्ठ ने ग्रहण किया पुलिस आयुक्त का पदभार

- कहा : हार्डकोर व माफियाओं पर रहेगी नजर

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी आलोक वशिष्ठ ने कहा है कि जोधपुर में जातिगत और साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने के लिए सोशल मीडिया का दुरुपयोग करने वाले असामाजिक तत्वों पर विशेष निगरानी रखी जाएगी और उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। इसके साथ ही इसी वर्ष होने वाले चुनावी वर्ष में माहौल बिगाड़ने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ भी निष्पक्ष और बिना राजनैतिक भेदभाव के कार्रवाई निष्पादित की जाएगी। यह बात उन्होंने शुक्रवार को जोधपुर में जोधपुर पुलिस आयुक्त का कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान कही।

उन्होंने कहा कि महानगर का रूप लेने के बाद अपराधों के ग्राफ में भी बढोतरी हुई है। इसी को देखते हुए हार्डकोर अपराधियों और माफिया अपराधियों की ओर से किए जाने वाले अपराधों पर तुरंत प्रभाव से अंकुश लगाया जाएगा। जोधपुर महानगर के साथ सीमावर्ती इलाकों से जुड़ा सबसे बड़ा शहर है और यहां पर होने वाले अपराधों को रोकने के लिए ग्रामीण पुलिस जिला जोधपुर के साथ संभाग के अन्य जिलों के पुलिस अधिकारियों के साथ भी डे-टू-डे वार्तालाप होगा और अपराधियों की धरपकड़ के लिए नाकेबंदी व्यवस्था को सुदृढ़ किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जोधपुर शहर के पुलिस थानाधिकारियों से भी वे मुलाकात करेंगे और हलका क्षेत्र की समस्याओं, अपराधों की प्रकृति की जानकारी हासिल करेंगे। साथ ही पुलिस थानाधिकारियों को रोजाना एक बार अपने अधीनस्थ अधिकारियों और बीट कांस्टेबल तक से संपर्क कर दिनभर की गतिविधियों के बारे में संवाद करेंगे और दर्ज केसों की प्रगति रिपोर्ट का विश्लेषण करेंगे।

यह भी पढ़े :  निम्बला गांव में फायरिंग के मुख्य आरोपी रघुवीरसिंह सहित चार जनों ने किया सरेंडर 

माफिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई

नवनियुक्त पुलिस आयुक्त आलोक वशिष्ठ ने कहा कि स्थानीय पुलिस अधिकारियों से मुलाकात कर शहर की भौगोलिक और अपराधिक पृष्ठभूमि का आंकलन करने के बाद रणनीति के साथ अपराधों पर रोकथाम की जाएगी। उन्होंने कहा कि बजरी, शराब और जुआ माफिया के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। पुलिस संवेदनशीलता और जनसहभागिता को अपनाकर शहर में अमन शांति को बरकरार रखेगी। पुलिस अधिकारियों को अपराध घटित होते ही मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए जाएंगे और मौका ए हालात अनुसार जनसहभागिता से शांति व्यवस्था बनाने के लिए माहौल बनाना होगा।



सोशल मीडिया पर रहेगी नजर

उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में अपराध घटित होने या किसी भी अफवाह के कारण कई बार सोशल मीडिया के चलते माहौल खराब हो जाता है लेकिन इस बारे में भी पुलिस मैसेज की सत्यता जांचेगी और अगर गलत होगा तो मैसेज भेजने वाले के खिलाफ आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया जाएगा। ताकि किसी प्रकार का द्वेष या वैमनस्य ना पैदा हो।

अधिकारियों की बैठक ली

कार्यभार ग्रहण करते ही उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों की एक बैठक लेकर यहां की कानून व्यवस्था की जानकारी ली। इससे पहले उनका जोधपुर आयुक्तायल में पहुंचने पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। उन्होंने सभी अधिकारियों की बैठक ले यहां से जुड़े विभिन्न मसलों पर चर्चा की। बता दे कि भरतपुर रेंज के आईजी के रूप में कार्यरत आलोक वशिष्ठ का 26 जुलाई को जोधपुर पुलिस कमिश्नर के पद पर तबादला किया गया था। उन्होंने शुक्रवार सुबह जोधपुर में अपने नवीन पद पर कार्यभार ग्रहण कर लिया। इस अवसर पर पुलिस के सभी अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

Leave a comment