देचू से जोधपुर के लिए निकला सुनार लापता

जागरूक टाइम्स 314 Aug 12, 2018

- परिजनों ने जताया अपहरण का संदेह

- बहनोई ने रिपोर्ट में कहा- अपहरणकर्ता ने मांगी एक लाख की फिरौती

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

जिले के देचू थाना क्षेत्र में रहने वाला एक सुनार गत दस अगस्त को व्यापारिक कार्य के लिए जोधपुर के लिए निकला, लेकिन वह लापता हो गया। उस दिन से ही उसका मोबाइल बंद आ रहा है। उसके बहनोई ने शनिवार रात को देवनगर थाने में अंजान शख्स के खिलाफ अपहरण करने और फिरौती मांगे जाने का आरोप लगाते मामला दर्ज करवाया है। पुलिस शनिवार देर रात से ही इस प्रकरण की गुत्थी को सुलझाने में लगी हुई है। व्यापारी का मोबाइल अभी भी बंद आ रहा है। पुलिस ने इस दिशा में गहन तफ्तीश आरंभ की है।

देवनगर पुलिस थाना के एसआई सर्जिल मलिक ने बताया कि देचू के जेठानियां निवासी उमेश सोनी पुत्र जोगाराम सोनी ने शनिवार को देर रात रिपोर्ट दी कि उसका साला मनीष सोनी गत अगस्त को व्यापारिक कार्य के सिलसिले में जोधपुर के लिए बस से निकला था। बस में बैठने पर उसके मोबाइल पर बात हुई थी लेकिन उसके बाद से ही उसका मोबाइल बंद आ रहा है। उसका पता नहीं लगने पर देचू थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई गई। बताया गया है कि मनीष सोनी घर से नगीने खरीदने के लिए करीब 85 हजार रुपए लेकर निकला था। उसका कहां से अपहरण हुआ है इस बारे में फिलहाल कुछ कहना संभव नहीं है।

उसके बहनोई उमेश सोनी ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि अंजान नंबर से आए कॉल में मनीष सोनी की रिहाई के लिए एक लाख की फिरौती की मांग की गई है। उमेश सोनी का कहना है कि उसके साले मनीष सोनी को किसी अपहृर्ता ने बंधक बना रखा है। मनीष सोनी की जोधपुर के प्रथम पुलिया चौपासनी रोड से अपहरण की आशंका जताई जा रही है। फिलहाल पुलिस इस बारे में गहन जांच में जुटी है। रविवार देर शाम तक ना तो मनीष सोनी का पता लगा और ना ही अपहृर्ताआें के बारे में जानकारी हो पाई। पुलिस ने बताया कि मनीष सोनी विवािहत है। उसकी पत्नी, मां, बहन व घर के कुछ और लोग तीन साल पहले बालेसर में एक सड़क दुर्घटना में मारे गए थे। तब से वह अकेला था। पुलिस इस दिशा में जांच कर रही है।

Leave a comment