शिल्पी की सजा के स्थगन पर फिर टली सुनवाई

जागरूक टाइम्स 160 Aug 6, 2018

- आसाराम यौन शोषण प्रकरण

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

अपने ही गुरुकुल की नाबालिग से यौन दुराचार के आरोप में उम्रकैद की सजा भुगत रहे आसाराम की सहयोगी के रूप में सजा काट रही शिल्पी उर्फ संचिता की ओर से पेश की गई सजा स्थगन की याचिका पर सोमवार को राजस्थान हाईकोर्ट की जोधपुर पीठ में सुनवाई फिर से टल गई।

आसाराम के साथ सजा काट रही शिल्पी उर्फ संचिता के द्वारा हाईकोर्ट में लगाई गई सजा स्थगन की याचिका पर सोमवार को सुनवाई 8 अगस्त तक के लिए टल गई। शिल्पी के अधिवक्ता महेश बोड़ा इस मामले में पैरवी कर रहे हैं। इस मामले में गत सोमवार को भी सुनवाई तय थी और सुनवाई टल गई थी। तब यह मामला राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीश पुष्पेंद्रसिंह भाटी की अदालत संख्या 5, में वाद सूची में 50 वे नम्बर पर सूचीबद्ध था। उल्लेखनीय है कि एससीएसटी कोर्ट के न्यायाधीश मधुसूदन शर्मा ने 25 अप्रेल 2018 को जोधपुर के मणेई आश्रम में नाबालिग से यौन दुराचार केस की जोधपुर सेंट्रल जेल में सुनवाई के दौरान आरोपी आसाराम की सहयोगी के आरोप सिद्ध होने के आधार पर शिल्पी को 20 वर्ष की सजा सुनाई थी।

Leave a comment