धोखाधड़ी के आरोपी पार्षद जनक सोनी ने किया कोर्ट में सरेंडर

जागरूक टाइम्स 303 Aug 1, 2018

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

राजस्थान हाईकोर्ट से जमानत आवेदन खारिज होने के बाद अधीनस्थ न्यायालय में सरेंडर करने के आदेश की अनुपालना में भाजपा पार्षद जनक सोनी ने बुधवार को ट्रायल कोर्ट में सरेंडर कर दिया। इसके बाद उदयमंदिर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल, सूरसागर राजबाग स्थित सरकारी भूखंड को फर्जी तरीके से बेचने के मामले में उदयमंदिर थाने में दर्ज एफआईआर में पार्षद जनक सोनी ने सेशन कोर्ट में अग्रिम जमानत आवेदन दायर किया था। जिसमें एडीजे 2 के पीठासीन अधिकारी नीतू आर्या ने जमानत आवेदन खारिज कर दिया था। इसके बाद पार्षद जनक सोनी द्वारा हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका पेश की गई थी। जिसे हाईकोर्ट ने गत माह खारिज करते हुए पार्षद जनक सोनी को अधीनस्थ न्यायालय में सरेंडर करने के आदेश पारित किए थे। बुधवार को पार्षद जनक सोनी ने अदालत में सरेंडर कर दिया।




यह है मामला

कैलाश कुमार चौहान ने उदयमंदिर पुलिस थाना में रिपोर्ट दी थी कि फर्जी व कूटरचित दस्तावेज के आधार पर राजबाग स्कीम सूरसागर में पार्षद जनक सोनी व अन्य आरोपियों ने भूखंड बेच दिया और बदले में 16 लाख रुपए ले लिए। जब उसने भूखंड पर चार लाख रुपए खर्च कर दस फीट की दीवार बनाई। तब किसी ने कहा कि इस भूखंड के दस्तावेज फर्जी है। फिर नगर निगम और जोधपुर विकास प्राधिकरण से पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी की गई है। इस पर चौहान ने सोनी व अन्य आरोपियों के खिलाफ उदयमंदिर थाने में धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज करवाई थी।



Leave a comment