नकल गिरोह का भंडाफोड़, जालोर से जुड़े है तार, 11 गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 372 Jul 11, 2018

- लाखों की नकदी व अन्य उपकरण बरामद
- परीक्षा में पास करवाने की एवज में लेते थे पांच से सात लाख रुपए

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

पुलिस ने विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल भर्ती गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने नकल भर्ती गिरोह से जुड़े ग्यारह लोगों को पकड़ा है और कुछ अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के प्रयास चल रहे हैं। उनसे लाखों रुपए की नकदी व अन्य उपकरण बरामद किए गए हैं। बताया गया है कि यह गिरोह नकल करवाने की एवज में पांच से सात लाख रुपए की राशि ले रहे थे। 

जोधपुर रेंज पुलिस महानिरीक्षक हवासिंह घुमरिया ने बताया कि आगामी कांस्टेबल, लैब अस्सिटेंट, लाइबेरियन, एलडीसी वगैरा भर्ती परीक्षाओं में कुख्यात नकल गिरोह के सरगना एवं इनामी वांछित जगदीश विश्नोई के भाई भीखाराम जाणी तथा उसके सहयोगी अरुण पंवार व सुरेश विश्नोई द्वारा ऑन शीट तथा फोटो मिक्सिंग के जरिये असली की जगह नकली होशियार लडके को परीक्षा में बैठाकर परीक्षा में पास करवाने की गांरटी का प्रलोभन देकर प्रत्येक परीक्षार्थी से पांच से सात लाख रुपए वसूलने की गुप्त सूचना मिली थी। इस पर जालोरी गेट स्थित अनुपम क्लासेज के भीखाराम विश्नोई, अरूण पंवार एवं सुरेश विश्नोई के मोबाइल नम्बर को सर्विलेन्स पर लेकर निगरानी की गई तो सूचना पुख्ता हो गई। इस पर टीम बनाकर इस गिरोह को पकड़ लिया गया।

ये हुए गिरफ्तार

पुलिस ने दाता सांचौर हाल मानसरोवर कॉलोनी पाल बाईपास निवासी भीखाराम पुत्र हरीराम, पालडी सिद्धा निवासी अरूण पुत्र दिलीप कुमार और शोभला दर्शन बाड़मेर निवासी सुरेश कुमार पुत्र गोविन्दराम को राउंड अप कर पूछताछ की तो पता चला कि भीखाराम के अनुपम क्लासेज में पढऩे वाले पूर्व परिचित होशियार लडकों की फोटो असली परीक्षार्थी से मिलते-जुलते हुलिए के आधार पर मैच करते हुए एडिटिंग करवा प्रवेश पत्र के नीचे लगा देते और नकली होशियार लडके को परीक्षा केन्द्र में बैठाते। इस पर उन्हें हिरासत में लिया। इसके साथ ही हिंगोलीभोपालगढ़ निवासी रामदीन पुत्र मानाराम बेनिवाल, न्यू आईजी स्टूडियो, खेमे का कुआं निवासी रमेश प्रजापत पुत्र रूपाराम, सरदार गढिया, थाना गोगामेढ़ी, जिला हनुमानगढ़ निवासी रघुवीरसिंह पुत्र निहालसिंह, कानावास का पाना डांगियावास निवासी भंवरलाल पुत्र गोकुलराम विश्नोई, कूदसू, थाना पांचू, जिला बीकानेर निवासी हरिनारायण पुत्र हनुमानराम, रसीदा डांगियावास निवासी मालाराम पुत्र भानाराम विश्नोई, सरनाडा की ढाणी निवासी मनीष पुत्र भीरमाराम, पचपदरा बाड़मेर निवासी निर्मल पालीवाल पुत्र जेठाराम को भी सहयोगियों के रूप में गिरफ्तार किया गया है। उनसे पूछताछ चल रही है।

इस तरह करते थे हेराफेरी

आईजी ने बताया कि ऑन-शीट के जरिये परीक्षा केन्द्र पर परीक्षार्थी से मिलते-जुलते हुलिये वाले होशियार लड़के को उसकी फोटो मिक्सिंग / एडिटिंग के जरिये समरूप बनाकर ई-प्रवेश के नीचे लगाना, परीक्षा केन्द्र पर अपनी पहचान मिक्सिंग किए गए फोटो से अपनी पहचान छुपाना तथा असली की जगह, नकली परीक्षार्थी से परीक्षा दिलवाई जाती है। इसके लिए परीक्षार्थी से अलग-अलग स्थानो सें फार्म भरवाए जाते हैं। जहां होशियार परीक्षार्थी उपलब्ध हो वहां से परीक्षा में बैठाया जाता है। इस कार्य के लिए पांच-सात लाख रुपए में सौदा तय किया जाता है। फोटो मिक्सिंग के नाम पर दो-ढाई लाख रुपए लिए जाते हंै।

यह सामग्री की जब्त

परीक्षार्थियों के गारन्टी बैच के स्टाम्प, संलग्न ब्लैक चेक, रसीदे बुके, रजिस्टर, हिसाब की पर्चियां, ऑनशीट तैयार की गई पर्चियां, मिक्सिंग एवं एडिट किए हुए परीक्षार्थियों के फोटोग्राफ, नकद चार लाख रुपए नौ हजार पांच सौ रुपए बरामद एवं कम्प्यूटर सीपीयू, एन्ड्राय मोबाइल फोन सहित कई इलेक्ट्रोनिक साधनों को जब्त किया गया है। इस संबंध में सरदारपुरा पुलिस थाना में मामला दर्ज किया गया है।

Leave a comment