316 लाख रुपए से सुशोभित होगा भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी मार्ग

जागरूक टाइम्स 461 Sep 29, 2018

- 50 लाख की लागत से होगा 12वीं रोड चौराहे का नवीनीकरण

- सर्किट हाउस से एयरपोर्ट मैन गेट तक डिवाइडरों के बीच लगेंगे अशोक के घने वृक्ष, हेरिटेज रंग से बनेगा डिवाइडर

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

जेडीए अध्यक्ष प्रो. डॉ. महेन्द्र राठौड़ द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपये मार्ग सर्किट हाउस सर्कल से एयरपोर्ट मैन गेट तक लगभग 315 लाख की लगात से नवीन डिवाईडर स्थापित करते हुए सौन्दर्यकरण करने के कार्य का शिलान्यास किया गया। 

इस अवसर पर सूरसागर विधायिका सूर्यकान्ता व्यास, महापौर घनश्याम ओझा, निदेशक अभियांत्रिकी सुखराम चौधरी, जेडीए अभियन्ता प्रबोध माथुर, प्रदीप हुड्डा सहित कई जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी मौजूद रहे। इसी प्रकार प्रो. राठौड़ द्वारा 50 लाख की लागत से 12वी रोड़ चौराहें के नवीनीकरण कार्य का भी शिलान्यास किया गया।
प्रो. राठौड़ ने बताया कि जोधपुर शहर हेरिटेज के रूप में विश्व प्रसिद्ध है। विश्व स्तर पर पर्यटकों का आवागमन इसी मुख्य मार्ग से होता आया है, जोधपुर का सर्किट हाउस से एयरपोर्ट रोड तक वीवीआईपी मार्ग जिसका नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपये मार्ग किया गया है पर अति-आधुनिक आरसीसी के लगभग तीन फीट ऊंचे आरसीसी के क्रश बेरिकेट्स लगाये जाकर जोधपुर के छितर के पत्थर के रंग से सुशोभित किया जाएगा जिस पर स्टील रेलिंग लगाकर डिवाइडरों के बीच में सर्किट हाउस से एयरपोर्ट मैन गेट तक अशोक के वृक्ष लगाए जाकर अटल बिहारी मार्ग को राजमार्ग की तरह सुशोभित किया जाएगा। एयरपोर्ट मैन गेट से सर्किट हाउस सर्कल तक वर्तमान में डिवाइडरों पर झाली लगी हुई है उक्त झालियां काफी स्थानों से क्षतिग्रस्त हो गई है एवं आए दिन होने दुर्घटनाओं के दौरान भी झालीयां व डिवाइडर क्षतिग्रस्त हो रहे है। जिससे जान-माल का नुकसान होने का खतरा बना रहता है। लोहे की झालियां होने के कारण समाजकंटकों द्वारा इसे निकाल कर कबाड़ में भी बेचा जा रहा है। इस वीवीआईपी मार्ग पर नवीन डिवाइडर की आवश्यकता काफी समय से महसूस की जा रही है। उक्त कार्य में पुराने डिवाइडर व झाली के स्थान पर आरसीसी के मजबूत डिवाइडर का निर्माण किया जाएगा। साथ ही वर्तमान में टेढी-मेढी झालियों के स्थान पर सीधे डिवाइडर निर्मित होंगें। नए डिवाइडरों के निर्माण के पश्चात् वृक्षारोपण व पौधरोपण का संधारण व डिवाइडर की साफ-सफाई भी आसानी से हो सकेंगी। साथ ही दुर्घटना के समय भी जान-माल का कम नुकसान होगा। डिवाइडरों के बीच वृक्षारोपण से पर्यावरण स्वच्छ बन सकेगा।

Leave a comment