मतगणना में धांधली को लेकर एबीवीपी ने किया प्रदर्शन

जागरूक टाइम्स 177 Sep 14, 2018

- जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव मामला : कुलपति कार्यालय का गेट बंद कर नारेबाजी की, धरने पर बैठे

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव की मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए एबीवीपी के कार्यकर्ताआें ने शुक्रवार को कुलपति कार्यालय के बाहर जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने केंद्रीय कार्यालय का प्रवेश द्वार बंद कर दिया। विवि प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने काउंटिंग के दौरान धांधली का आरोप लगाकर जांच करवाने की मांग की। 

दरअसल, तीन दिन पहले हुई छात्रसंघ चुनाव की मतगणना के दौरान अध्यक्ष पद के एबीवीपी के प्रत्याशी मूलसिंह एनएसयूआई के प्रत्याशी सुनील चौधरी से सिर्फ नौ वोटों से हार गए थे। उसके बाद से ही मूलसिंह और एबीवीपी की आेर चुनावी मतगणना में धांधली का आरोप लगाया जा रहा है। मूलसिंह का कहना है कि इस मतगणना में कुल 568 वोट रद्द किए गए। इसमें सर्वाधिक मत उसके थे। उसका दावा है कि मतगणना में वोट सही होने के बावजूद उसके मत खारिज कर दिए गए। मूलसिंह का आरोप है कि कांग्रेस से मिलीभगत कर विवि प्रशासन ने जानबूझकर उसके हिस्से के मतों को खारिज कर हराया है। विवि के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रो. अवधेश शर्मा और पीआरओ रामनिवास ग्वाला ने मतगणना को प्रभावित किया है। मतगणना कक्ष में कांग्रेसी विचारधारा के अधिकांश शिक्षकों की ड्यूटी थी। मतगणना के लिए केवल विज्ञान संकाय के शिक्षकों को लगाया गया। उसने अधिक मत खारिज होने पर दूसरे राउंड से ही आपत्ति करनी शुरू कर दी लेकिन विवि ने ध्यान नहीं दिया। छात्रों ने एपेक्स अध्यक्ष पद के लिए कुल 9936 वोट डाले लेकिन गिनती में 25 वोट पहले से ही गायब थे। कुल 9911 वोटों में से 564 मत खारिज किए गए। पुनर्मतगणना में एनएसयूआई प्रत्याशी सुनील चौधरी के 83 वोट पर आपत्ति की लेकिन 26 वोट ही खारिज माने गए और शेष वापस जोड़कर सुनील को 9 वोट से जीता दिया। इसको लेकर शुक्रवार को दोपहर में एबीवीपी के कार्यकर्ताआें ने कुलपति कार्यालय के बाहर धरना देकर जोरदार प्रदर्शन किया।

मुख्यमंत्री तक पहुंची शिकायत, दिया आश्वासन

मूलसिंह राठौड़ ने चुनाव में धांधली के आरोप की शिकायत शुक्रवार को राजधानी पहुंचकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से की जहां मुख्यमंत्री ने इसकी जांच करवाने का आश्वासन दिया। राठौड़ ने चुनाव में धांधली के साथ ही विश्वविद्यालय के कुछ शिक्षक एवं कर्मचारियों पर मिलीभगत का आरोप भी लगाया। वे गुरुवार को देर रात भाजपा देहात के जिलाध्यक्ष भोपाल सिंह बड़ला, पूर्व जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आनंदसिंह के साथ जयपुर गए थे। वहां शुक्रवार को सुबह मुख्यमंत्री आवास पहुंचकर वसुंधरा राजे से छात्रसंघ चुनाव परिणाम में धांधली का आरोप लगाते हुए निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की।

Leave a comment