9 वोट से हारे एबीवीपी प्रत्याशी मूलसिंह ने खटखटाया अदालत का दरवाजा

जागरूक टाइम्स 484 Sep 12, 2018

जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव: 400 खारिज मतों को बनाया आधार

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय (जेएनवीयू) में छात्रसंघ चुनाव में कांटे की टक्कर में एनएसयूआई के प्रत्याशी सुनील चौधरी से हारे एबीवीपी के प्रत्याशी मूलसिंह ने अदालत का दरवाजा खटखटाया है। पहले तीन राउंड में लीड के साथ बढ़ रहे मूलसिंह चौथे राउंड के बाद सुनील चौधरी से केवल 146 वोट के अंतर से ही आगे रह गए थे। फिर पांचवे राउंड में बढ़त के सुनील चौधरी ने जीत दर्ज कर ली थी लेकिन करीब 400 वोट खारिज होने के चलते मूलसिंह 9 वोट से यह चुनाव हार गए। 

यह भी पढ़े : घर बैठे मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड और जाति प्रमाण पत्र

अब अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पराजित प्रत्याशी मूलसिंह ने राजस्थान उच्च न्यायालय में याचिका पेश की। मूलसिंह ने याचिका में मतगणना के दौरान गड़बड़ी होने का आरोप लगाया है। उन्होंने 400 खारिज मतों को याचिका कर आधार बनाया है। मूलसिंह ने मतदान के बाद अंगूठा लगा कर मत खारिज करवाने का भी इल्जाम लगाया है। उन्होंने याचिका में यह भी कहा है कि उनके आवेदन के बावजूद पुनर्मतगणना नहीं करवाई गई।

दरअसल जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय छात्रसंघ और विवाद का पुराना नाता रहा है। यही बड़ी वजह रही कि जहां राजधानी जयपुर सहित समूचे प्रदेश के विश्वविद्यालयों के छात्रसंघ चुनाव के परिणाम मंगलवार शाम तक घोषित हो गए, वहीं जेएनवीयू में मंगलवार देर रात तक मतगणना जारी रही। यहां अध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के सुनील चौधरी व अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के मूलसिंह राठौड़ में कड़ा मुकाबला रहा। मंगलवार देर रात तक मतगणना हुई। पांचवें और अंतिम राउंड की मतगणना में खारिज मतों को लेकर उपजे विवाद के बाद पुनर्मतगणना शुरू हुई। 

यह भी पढ़े : जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव : एनएसयूआई के सुनील चौधरी बने अध्यक्ष

देर रात करीब दो बजे पुनर्मतगणना पूरी होने के बाद एनएसयूआई के सुनील चौधरी को विजयी घोषित किया गया। उन्होंने मूल सिंह को 9 मतों से हराया। उन्हें रात सवा दो बजे शपथ दिलाई गई। मूलसिंह की आपत्ति पर केवल सुनील चौधरी के मतों की पुनर्मतगणना की गई। पहले हुई मतगणना में सुनील को 4198 मत मिले थे। री-काउंटिंग में उसमें से 26 मत खारिज हो गए। वहीं दो मत मूलसिंह के खाते में चले गए। इसके बाद देर रात सवा दो बजे सुनील चौधरी 9 वोट से विजयी घोषित किए गए।

बताया गया है कि मतगणना के दौरान पांचवें और अंतिम राउंड में एनएसयूआई के सुनील चौधरी 39 मत से आगे निकल गए। सुनील को 4198 और मूल सिंह को 4159 मत मिले थे। 38 मत खारिज किए गए। बड़ी संख्या में खारिज मतों पर एबीवीपी के मूल सिंह ने आपत्ति दर्ज करवाई। उनका आरोप था कि उनके समर्थन में दिए गए वोट ज्यादा खारिज किए गए हैं। इस बात पर विवाद गहराया तो मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रो. अवधेश शर्मा ने पुनर्मतगणना का फैसला लिया था।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे व्हाट्स ऐप | फेसबुक 

Leave a comment