46.22 प्रतिशत मतदान, प्रत्याशियों का भाग्य पेटियों में बंद

जागरूक टाइम्स 258 Sep 10, 2018

- जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव: पिछले साल से तीन प्रतिशत कम हुई वोटिंग, 

- 21 हजार 499 में से 9 हजार 936 मतदाताओं ने वोट दिए

- कुछ स्थानों पर छुटपुट घटनाएं, पुलिस ने कई बार भीड़ को खदेड़ा

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में सोमवार को हुए छात्रसंघ चुनाव के दौरान 46.22 प्रतिशत मतदान हुआ। यह पिछले साल से करीब तीन प्रतिशत कम है। पिछले साल करीब 49 प्रतिशत मतदान हुआ था। सोमवार को कुछ स्थानों पर छुटपुट घटनाएं हुई लेकिन कड़े पुलिस बंदोबस्त के कारण उत्पाती घटनाआें पर लगाम लगी रही। मतगणना ग्यारह सितंबर को सुबह ग्यारह बजे की जाएगी। संकायों में वोटों की गिनती संकाय स्तर पर, संघटक कॉलेजों की मतगणना इन्हीं कॉलेजों में और अपेक्स पदों के लिए मतगणना एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में होगी। विवि में छात्रसंघ के कुल 34 पदों के लिए 164 उम्मीदवार मैदान में है। 

वीडियो देखे : बाड़मेर टायर फटने से अनियंत्रित हुई कार पेड़ से टकराई, 9 लोग घायल

जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव मेंं सोमवार सुबह आठ बजे से संकायों में बने 41 मतदान केन्द्रों पर मतदान शुरू हुआ। सुबह बारिश होने के कारण शुरुआत में तो मतदान करने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या कम रही लेकिन दस बजे के बाद बूथों पर लम्बी लाइनें लगनी शुरू हो गई। चुनाव में अपना भाग्य आजमा रहे छात्र नेताओं और उनके समर्थकों ने आखिरी समय तक अपने पक्ष में मतदान करने के लिए मतदाताओं को रिझाने के प्रयास जारी रहे। भारी सुरक्षा व्यवस्था और दस्तावेजी जांचों के बाद मतदान केन्द्रों में प्रवेश दिया गया। छात्रों के बीच किसी विवाद को रोकने के लिए इस बार बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। 

वीडियो देखे : जालोर : सड़क हादसे में बाइक सवार की मौत

पूरी तरह से जांच परख के बाद ही छात्रों को मतदान केन्द्रों में प्रवेश करने की अनुमति प्रदान की गई। आईडी कार्ड में छपे बार कोड को मतदान स्थल पर स्कैन करने के बाद ही छात्रों को अंदर प्रवेश दिया गया। कुछेक स्थान पर लम्बी जांच प्रक्रिया पर भी छात्रों ने नाराजगी जताई। पोलिंग बूथों पर प्रात: 8 बजे मतदान शुरू होने के बाद 10 बजे तक मतदाताओं में मतदान को लेकर रूझान कम देखा गया। जहां आंकड़ों के मुताबिक प्रात: 10 बजे तक मात्र 14 मतदान ही हुआ वही कमला नेहरु महिला महाविद्यालय में 10 बजे तक मात्र बारह छात्राओं ने अपने मत का प्रयोग किया। बूंदाबांदी ने भी मतदाताओं को मतदान केंद्र तक जाने के लिए बाधाएं उत्पन्न की।

पूर्व महिला अध्यक्ष को दिया धक्का

छात्रसंघ चुनावों के दौरान केएन कॉलेज के बाहर का माहौल गर्म रहा। यहां पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कांता ग्वाला और उसके समर्थकों की ओर से एनएसयूआई के लिए समर्थन में नारे लगाने के दौरान एबीवीपी की समर्थक छात्राओं से झड़प हो गई। हालांकि महिला कांस्टेबलों ने मिलकर उन्हें शांत करवाया। इस दौरान यहां तीन फर्जी मतदाता भी पकड़े गए जिन्हें पुलिस ने केंद्रों से दूर भिजवाया। दरअसल कमला नेहरू महिला महाविद्यालय के बाहर छात्रसंघ की निवर्तमान अध्यक्ष कांता ग्वाला के नेतृत्व में कुछ छात्राएं एनएसयूआई प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार कर रही थी।

इस दौरान कुछ छात्राएं एबीवीपी प्रत्याशी का प्रचार कर रही थी। पहले तो दोनों पक्षों ने आमने-सामने खड़े होकर जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच तकरार बढ़ गई। इस पर तैश में आकर एक छात्रा ने मारपीट शुरू कर दी। इस पर कांता ग्वाला ने बीच बचाव कर मामला शांत कराने का प्रयास किया। तब तक वहां छात्राओं का जमावड़ा बढ़ गया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग कर वहां से खदेड़ दिया। वहीं कांता ग्वाला के भाई चेतन ग्वाला को भी पुलिस उसके समर्थकों के साथ पकड़कर थाने ले गई। उसकी गाड़ी के कांच फोड़ दिए गए थे तब वह दूसरे गुट से उलझ गया था।

साइंस फैकल्टी में सबसे अधिक पोलिंग

छात्रसंघ चुनाव के विभिन्न पदों के लिए 41 बूथों पर विद्यार्थियों ने अपने मतदान किया। नया परिसर का विज्ञान संकाय में सबसे अधिक मतदान हुआ तो वही ओल्ड कैंपस के कॉमर्स फैकल्टी में सबसे कम मतदान हुआ। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि विज्ञान संकाय के 3275 विद्यार्थियों में से 1927, कला संकाय के 3559 विद्यार्थियों में से 1731, विधि संकाय के 2081 विद्यार्थियों में से 667, वाणिज्य संकाय के 2920 विद्यार्थियों में से 869, सायंकालीन अध्ययन संस्थान के 2066 विद्यार्थियों में से 1086, कमला नेहरू महिला महाविद्यालय की 4850 छात्राओं में से 2219 छात्राओं ने एवं अभियांत्रिकी संकाय के 2748 विद्यार्थियों में से 1437 विद्यार्थियों ने यानि कुल 21499 मतदाताओं में से 9936 मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया।

यह भी पढ़े : 50 लाख की अवैध शराब बरामद, 2 गिरफ्तार

वहीं शोध प्रतिनिधि पद के लिए 914 में से 146 शोध विद्यार्थियों ने मतदान किया। विज्ञान संकाय में 58.84 प्रतिशत, कला संकाय में 48.64 प्रतिशत, विधि संकाय में 32.05 प्रतिशत, वाणिज्य संकाय में 29.76 प्रतिशत, सायंकालीन अध्ययन संस्थान में 52.57 प्रतिशत, कमला नेहरू महिला महाविद्यालय में 45.75 प्रतिशत एवं अभियांत्रिकी संकाय में 52.29 प्रतिशत मतदान हुआ। वहीं विज्ञान संकाय में शोध प्रतिनिधि पद के लिए 15.97 प्रतिशत मतदान हुआ।

यह भी पढ़े : राजस्थान में सप्लाई के लिए झारखंड से आ रहा दो हजार किलो डोडा-पोस्त पकड़ा 

कल होगी मतगणना

प्रदेश भर में हुए छात्र संघ चुनाव संपन्न होने के बाद 11 सितंबर को प्रदेश भर में छात्रसंघ चुनाव की मतगणना होगी। जय जय नारायण विश्वविद्यालय को छोड़ अन्य विश्वविद्यालयों में गत माह में छात्र संघ चुनाव संपूर्ण हो चुके हैं वही जोधपुर संभाग में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा के चलते चुनाव की तिथि 10 सितंबर तय की गई थी जहां आज शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न होने के बाद अब कल प्रदेश भर में छात्रसंघ चुनाव की मतगणना होगी ।जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के लिए मतगणना एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रात: 11 बजे आरंभ होगी।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे व्हाट्स ऐप | फेसबुक 

Leave a comment