सर्वधर्म सद्भाव के साथ 115 हिन्दू-मुस्लिम जोड़े बने जीवन साथी

जागरूक टाइम्स 963 Sep 11, 2018

- सर्वधर्म सामूहिक विवाह सम्मेलन सम्पन्न

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

राज्य स्तरीय एकता शाह विकास सेवा समिति की ओर से जोधपुर में मंगलवार को बुझावड़ गांव स्थित मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी परिसर में चौथा सर्वधर्म सामूहिक विवाह सम्मेलन सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। इस विवाह सम्मेलन में 115 हिन्दू-मुस्लिम जोड़े बने जीवन साथी बने।

यह भी पढ़े : घर बैठे मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड और जाति प्रमाण पत्र

संयोजक मोहम्मद रौनक काजी ने बताया कि कौमी एकता व सद्भावना को बढ़ावा देने, गरीब परिवार के युवक-युवतियों का विवाह करवाने, विवाह में होने वाली फिजूलखर्ची रोकने, सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने तथा सामूहिक विवाह के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के मक़सद से ये विवाह सम्मेलन आयोजित किया गया। सह संयोजक हसन खान ने बताया कि इस विवाह में 20 जोड़े मुस्लिम तथा 95 जोड़े हिन्दू परिवारों सहित कुल 115 जोड़े, जोधपुर, पाली, जालोर, बाड़मेर, ब्यावर, बिलाड़ा, आगरा, कानपुर आदि स्थानों से सम्मिलित हुए। 

यह भी पढ़े : 9 वोट से हारे एबीवीपी प्रत्याशी मूलसिंह ने खटखटाया अदालत का दरवाजा 


हिन्दू जोड़ों के विवाह के फेरे आर्य समाज के पण्डितों द्वारा हिन्दू परम्परा के अनुसार करवाए गए तथा मुस्लिम जोड़ों का निकाह इस्लामी रीति रिवाज से काजी वाहिद अली की सरपरस्ती में हुआ। सम्मेलन में मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के सीईओ मोहम्मद अतीक सहित प्रदेश भर से आए कई राजनीतिज्ञ, समाजसेवी व शिक्षाविदों ने अपने विचार रखें तथा सामूहिक विवाह को आज की सबसे बड़ी जरूरत बताया।

समिति के अध्यक्ष जलालुद्दीन ने बताया कि बुझावड़ गांव स्थित मौलाना आज़ाद यूनिवर्सिटी परिसर में विभिन्न समाज के बुजुर्गो, युवाओं व बच्चों सहित 15 हजार लोगों ने सामूहिक सद्भावना भोज में भाग लिया। संचालन मोहम्मद इकबाल चुंदडीगर ने किया। आभार मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के पूर्व अध्यक्ष्य शब्बीर अहमद खिलजी ने दिया।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे व्हाट्स ऐप | फेसबुक 

गिफ्ट व सामग्री देकर किया विदा

सह संयोजक गणपत सिंह चौहान व ललित मेवाड़ा ने बताया कि विवाह स्थल मौलाना आज़ाद यूनिवर्सिटी परिसर में सभी पंजीकृत नवविवाहित जोड़ो को समिति की ओर से मैरिज सर्टिफिकेट दिए गए तथा राज्य सरकार की ओर से 15 हजार की सरकारी अनुदान राशि एफडी के रूप में दुल्हन के नाम से उनके खातों में शीघ्र उपलब्ध करवाई जाएगी। साथ ही सफल वैवाहिक जीवन के लिए जोधपुर के जेडीए क्षेत्र के 50 गज का एक रजिस्ट्री शुदा प्लॉट भी उपलब्ध कराया जाएगा। उपहार के रूप में स्त्री धन सहित कई उपयोगी वस्तुएं दुल्हन के परिवार को सौंप दी गई है। समिति के कोषाध्यक्ष चांद मोहम्मद ने बताया कि सम्मेलन में समाज कल्याण विभाग द्वारा सभी नवविवाहित जोड़ों को मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के हस्ताक्षर युक्त प्रशस्ति पत्र आशीर्वाद स्वरूप प्रदान किए गए।

एक लाख जोड़ों की शादियों का लक्ष्य

सह संयोजक मनीष मेघवाल, सुमन सरगरा, दशरथ प्रजापत ने बताया कि राज्य स्तरीय एकता शाह विकास सेवा समिति की ओर से पहले तीन सम्मेलन भीलवाडा, पाली, ब्यावर में सफलतापूर्वक आयोजित किए जा चुके है। यह चौथा सम्मेलन जोधपुर में आयोजित किया गया। सादगी के साथ फिजूल खर्ची रोकते हुए सर्वधर्म सामूहिक विवाह सम्मेलन में 1 लाख जोड़ो की शादियां करवाना समिति का लक्ष्य रखा गया हैं।

Leave a comment