काग्रेंस सहित विपक्षी दल किसानों को गुमराह कर देश में अराजकता फैलाने की कोशिश कर रही है : जिलाध्यक्ष

जागरूक टाइम्स 149 Sep 22, 2020

भीनमाल। मोदी सरकार कृषि अधिनियम २०२० विधेयक संसद में पारित होने पर किसान की आय दुगना होने का सपना साकार होगा। अब किसान उनकी फसल को देश के किसी भी बाजार में मनचाही कीमत पर बेच सकेगें। विधेयक से परेशान काग्रेंस सहित अन्य विपक्षी दल द्वारा किसानों को गुमराह कर देश में अराजकता फैलाने का विफल प्रयास किया जा रहा है। भाजपा जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव बोरली ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के क्रांतिकारी निर्णय ने विपक्षी पार्टीयों को जोरदार तमाशा मारा है। राव ने बताया कि वर्षो से कई राजनीतिक दल चुनावी घोषणा पत्र में वादे कर किसानों को गुमराह कर सता में पहुंचने के बाद वादे भूल जाती थी। देश में पहली बार केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार चुनावी वादों पर खरी उतर रही है। जिससे पूरा विपक्ष तिलमिलाया हुआ है।

जिलाध्यक्ष राव ने बताया कि भारतीय कृषि इतिहास के लिए यह साहसिक व ऐतिहासिक कदम है। उन्होने बताया कि उ1त विधेयक के बाद किसानों को बिचौलियों से मु1ित के साथ-साथ वृहद व नया बाजार उपल4ध होगा। जिसके माध्यम से किसान उंचे दामों पर फैसले बेचकर आय में बढ़ोतरी कर पाएंगे। राव ने बताया कि किसान कल्याण के लिए मोदी सरकार हमेशा समर्पित भाव से कार्य करती है। उन्होने बताया कि किसानों के उत्थान के लिए पीएम किसान स6मान निधि, ई-मंडी, फसल बीमा व कृषिगत सुधार के लिए एक लाख करोड़ रूपये का अलग से आंवटन कर तकदीर बदलने का कार्य किया है। राव ने बताया कि वर्ष २०१५ की नीति आयोग की रिपोर्ट में किसानों की आय बढ़ाने, बाजार व्यवस्था को मजबूत कर फसलों के दाम बढ़ाने, किसान को उनकी उपज की अच्छी कीमत दिलवाने, स्वतंत्र बाजार प्रणाली लागू करने व अच्छी परिवहन सुविधा उपल4ध करवाने आदी सिफारशों पर अमल कर संसद में विधेयक लाने का सुझाव दिया था।

राव ने बताया कि मंडी व्यवस्था पहले की भांति चालू रहेगी, जिसमें किसान उनकी फसल को उनकी इच्छानुसार मूल्य तय कर बेच सकेगे। राव ने बताया कि नए विधेयक के अनुसार कंपनी खेत मे जाकर भी किसान से फसल खरीद सकेगी ओर पैसा सीधा किसान के खाते में ट्रांसफर होगा। इसमें किसान को कोई टे1स नही देना पडेगा। राव ने बताया कि किसान भी उनका संगठन बनाकर इसका लाभ ले सकेंगे, भुगतान की शर्ते भी किसान की सुविधा के अनुसार होगी। फसल के आधार पर किसानों की सुविधा के अनुसार उनकी मर्जी से कांट्रे1ट होगा। राव ने बताया कि मोदी सरकार ने किसानों के कल्याण के लिये ऐतिहासिक कार्य किया है लेकिन काग्रेंस सहित अन्य विपक्षी पाटिया देश में अराजकता फैलाकर किसानों को गुमराह कर रही है, जिसमे वह कभी सफल नही होगी।

जिलाध्यक्ष राव ने बताया कि किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी)पर खरीद वर्तमान समय की आवश्यकता है, जो आगे भी निरंतर जारी रहेगी। कांग्रेस घडिय़ाली आंसू बहाकर किसानों को भ्रमित कर उनका हितेषी बनने का नाटक कर बिल का विरोध कर रही है। जिसमें वह कभी सफल नही होगी। राव ने बताया कि २०१९ के चुनावी घोषणा पत्र में काग्रेंस ने किसानों से इस विधेयक को लाने का वादा किया था। आज उसी विधेयक का विरोध कर रही है। विरोध के माध्यम से काग्रेंस का असली चेहरा उजागर हो गया है। उन्होने काग्रेंस की कथनी व करनी में भेद का आरोप लगाते हुए बताया कि अब देश का किसान व आम जनता काग्रेंस के बहकाबे में आने वाली नही है। राव ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वंय किसानों को आश्वास्त कर चुके है कि एपीएमसी व एमएसपी भी रहेगी।


Leave a comment