चचेरे भाई ने रेप के बाद की बहिन की हत्या

जागरूक टाइम्स 213 May 24, 2018
बागोड़ा - बागोड़ा पुलिस थाना के नांदिया गाव से अट्ठाइस दिन पहले पानी भरने गई एक बालिका के शुक्रवार को शव बरामदगी के बाद पुलिस जाॅच मे हत्या का खुलाषा हुआ। बालिका की हत्या उसके चचेरे भाई ने ही की। पुलिस उप अधिक्षक धीमाराम विष्नोई ने बताया कि नांदिया गाव मे शुक्रवार को बरामद बालिका के क्षत-विक्षत शव कंे बाद 24 घंटे मे हत्या का खुलाषा हुआ। बालिका लीला पुत्री पुनमाराम जाति वागरी की हत्या उसके चचेरे भाई सुरेषकुमार पुत्र मदरूपाराम जाति वागरी उम्र 20 ने षराब के नषे मे दुष्र्कम के बाद साक्ष्य मिटाने के लिए उसको मारकर सौ मीटर दूरी पर नीम के कटे हुए नीम के खडडे मे गाड़ दिया। गोरतलब है कि- लीला पुत्री पुनमाराम जाति वागरी निवासी नंादिया जो अपने घर से 17 जून को लापता हो गई थी। परिजनो के काफी खोजबीन करने के बाद नही मिलने पर 6 जुलाई को बागोड़ा पुलिस थाना मे मुकदमा की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी। लापता बालिका का शुक्रवार को उसी के खेत मे क्षत-विक्षत शव मिला था। पुलिस ने पोस्को एक्ट मे प्रकरण दर्ज कर जाॅच षुरू की तो महज 24 घंटो मे ही हत्या का राज खुल गया। थानाधिकारी हीराराम मेघवाल के नेतृत्व मे गठित टीम मे एएसआई बद्रीदान चारण, हेडकाॅस्टेबल देवाराम, बहादूर खां, नरेन्द्र व काॅस्टेबल मोहनलाल, मनोहरमल, चंदूराम, जितेन्द्र, प्रिंयका व जबरूदीन की टीम ने घटना स्थल के आस पास संभावित खेतो व ढाणियो मे सुराग हेतु प्रयास कर मामले मे गहनता से पुछताछ की तो पुछताछ मे बालिका के चचेरे भाई सुरेषकुमार ने षराब के नषे मे बालिका से दुष्र्कम करने की बात स्वीकारी वही ये पाप छिपाने के लिए नीम के ठुठ से सिर पर वार कर दिया जिससे लीला की जीवन लीला वही समाप्त हो गई। सुरेष ने घटना स्थल से करीब सौ मीटर दूर नीम के वृक्ष के खडडे मे गाड़ दिया। पुलिस ने हत्या मे प्रयुक्त मर्डरवेपन नीम का ठुठ व फावड़ा भी बरामद किए। वही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। जताया आभार- भाजयुमो जिलाध्यक्ष हिंगलाज चारण व गाववासियों ने चैबीस घंटे के भीतर ही लापता बालिका के मामले का पर्दा-फाष कर आरोपी को गिरप्तार करने पर पूलिस अधिक्षक कल्याणमल मीणा, उप अधिक्षक धीमाराम विष्नोई, थानाधिकारी हीराराम मेघवाल व पुलिस जवानो का आभार जताया है।

Leave a comment