चेतावनी : जवाई बांध 60 फीट, सावधान-कभी भी खुल सकते है जवाई की फाटकें

जागरूक टाइम्स 173 May 24, 2018
जालोर. जवाई बांध का गेज सुबह सात बजे 60 पहुंच गया है। सावधान कभी भी खुल सकता है जवाई का गेट। सेई बांध से पानी की आवक लगातार जारी। जालोर में जवाई के किनारे स्थित गांवों में चेतावनी दी जा रही है। बुधवार को ही जल संसाधन विभाग के अधिशासी अभियंता ने जालोर कलक्टर को पत्र भेज चेतावनी संदेश जारी करने की अपील की थी। इसके तहत जालोर के जवाई के किनारे स्थित सभी गांवों में चेतावनी जारी कर दी गई है। जलग्रहण स्रोत से पानी की निरंतर आवक जारी है। 7327 एमसीएफटी की भराव की क्षमता वाले जवाई बांध में अब तक 6826 एमसीएफटी पानी आ चुका है। इस बांध की भराव क्षमता 61.25 फीट है। आपको बता दें कि इसके गेट पिछले वर्ष भी खोले गए थे और अब गेट खुलने वाला ही है। पश्चिमी राजस्थान का सबसे बड़ा जलस्रोत जवाई बांध पर इस समय जालोर व सिरोही में बने बाढ़ के हालात के बाद समूचे पश्चिमी राजस्थान के लोगों की नजरें टिकी हुई है। गुरुवार सुबह सात बजे बांध का गेज 59.30 फीट पहुंच गया है। वहीं बुधवार रात नौ बजे बांध का गेज 58.60 फीट तक पहुंचा था। लोग पल पल की जानकारी ले रहे हैं। जल संसाधन के अधिकारियों ने भी इसके गेट खोलने को लेकर सरकार से विचार विमर्श शुरू कर दिया है। इधर आहोर विधायक ने बताया कि यदि एक फाटक खोल दी जाए तो नदी में पानी बहता रहेगा। इस संबंध में सिंचाई मंत्री से भी बात की गई। बांध में सेई बांध से पानी आवक लगातार जारी है। आहोर विधायक बुधवार को सुमेरपुर पहुंचे और बाद मे जवाई बांध का निरीक्षण करने पहुंचे। वहा पर उन्होंने सरकारी अधिकारियों से जवाई के जल स्तर की जानकारी ली। जिसमें शाम करीब साढे चार बजे जवाई बांध का गेज 58.30 होना बताया। साथ ही जल संसाधन मंत्री से फोन पर बात कर जवाई बांध की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया। विधायक ने सरकारी डाक बगले पर उच्च अधिकारियों के साथ बैठक ली, जिसमें विधायक ने समय रहते पानी को धीमी गति से छोड़ा जाए तो जिसका फायदा किसानों को मिले सके और पानी का सही उपयोग हो।

Leave a comment