मोटे मुनाफे के फेर में खुलेआम हो रहा सेहत से खिलवाड़, अधिकारी खामोश

जागरूक टाइम्स 47 May 24, 2018
भीनमाल । शहर के रेलवे स्टेशन और बस स्टैण्ड पर आने-जाने वाले यात्री सावधान। यदि आपको यहां पानी खरीदना पड़े तो देख-परख कर खरीदें। जरा सी चूक से आपकी जेब तो कटेगी ही, साथ में पानी भी दोयम दर्जे का मिलेगा। जी हां, रेलवे स्टेशन व बस स्टैण्ड पर मोटे मुनाफे के फेर में ब्रांडेड कम्पनियों से मिलते जुलते नामों से सीलबंद बोतलों में पानी बिक रहा है। इस पानी की क्वालिटी की कोई गारंटी नहीं है । इतना ही नहीं कई दुकानदार इस पानी के भी बोतल पर अंकित एमआरपी से ज्यादा राशि वसूल रहे हैं। रेलवे स्टेशन व बस स्टेण्ड पर स्थित दुकानों का ग्राहक बन जायजा लिया। इस दौरान बस स्टैण्ड व रेलवे स्टेशन पर कट रही यात्रियों की जेब का सच सामने आया। 20 रुपए एमआरपी, 15 में देने को तैयार बस स्टैण्ड पर रिपोर्टर ने एक दुकानदार से ब्रांडेड कम्पनी की एक पानी की बोतल मांगी, तो दुकानदार से झट से उसे एक बोतल पकड़ा दी । पैसे पूछने पर दुकानदार ने इसकी कीमत 20 रुपए बताई । जब रिपोर्टर ने गहराई से बोतल को देखा तो वह दंग रह गया। बोतल पर एक ब्रांडेड कम्पनी से मिलते जुलते नाम का रैपर लगा हुआ था। बोतल पर पानी की कीमत भी 20 रुपए अंकित थी। जब रिपोर्टर ने दुकानदार से इसकी जगह ब्रांडेड कम्पनी का पानी देने को कहा, तो दुकानदार ने इसे भी बढि़या बताते हुए 20 की जगह 18 रुपए देने को कहा । इस पर जब रिपोर्टर दूसरी दुकान पर पहुंचा, तो वहां भी एेसी ही पानी की बोतलें रखी हुई थी, जिसकी कीमत पूछने पर दुकानदार ने 15 रुपए बताई। स्टेशन पर बिक रहा स्थानीय पानी स्टेशन पर स्थानीय कंपनी का पानी बिक रहा है। रेल नीर या अन्य नामी कम्पनी का पानी बिकना चाहिए। लेकिन स्टाल संचालकों ने मोटा मुनाफा कमाने के लिए स्थानीय कम्पनी का पानी रखा है । वह कम्पनी रजिस्ट्रर्ड भी है या नहीं, पता नहीं है । लोगों के स्वास्थ्य से भी खिलवाड़ का खतरा है। जिम्मेदार मौन, कभी नहीं लिया नमूना बस स्टैण्ड पर यात्रियों की सेहत से खिलवाड़ के इस खेल की जिम्मेदार अधिकारियों को भी जानकारी है, लेकिन उन्होंने कभी कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई। हालात यह हैं कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग सहित जलदाय विभाग ने भी कभी इस पानी का नमूना लेना मुनासिफ नहीं समझा। जबकि अन्य जिलों में सीलबंद पानी के नमूने भी फेल आ चुके हैं। अन्य सामान के हालात * चाय टी बेग सहित सात रुपए है, स्टेशन पर यह चाय उपलब्ध नहीं है। * चाय सामान्य बनी पांच रुपए है । यह चाय 10 रुपए तक मिल रही है। * वेज पेटीज 13 रुपए निर्धारित है, यह पेटीज 20 रुपए में मिल रही है। * बिस्कुट, चिप्स प्रिंट रेट से ज्यादा रेट में बिक रहे हैं । सारी दुकानों पर यही स्थिति रिपोर्टर ने पूरे बस स्टैण्ड परिसर का अवलोकन किया, तो दुकानों पर ब्रांडेड कम्पनियों की जगह मिलते जुलते नामों की पानी की बोतलें रखी मिली। प्रबंधक रोडवेज ने बताया कि यदि एमआरपी से अधिक दर पर सामान बेचा , तो जांच करा कार्रवाई करेंगे। ब्रांडेड आयटमों से मिलते-जुलते आयटम बेचकर गुमराह करने की भी जांच की जाएगी।

Leave a comment