धानसा में बिजली का बिल लाखो में देख कर उपभोक्ता के होश उड़े

जागरूक टाइम्स 72 May 24, 2018
मोदरान : कस्बे के निकटवर्ती धानसा में बिजली का बिल देख उपभोक्ता के होश उड़ गये। वो सोच ही नही पाया कि एक लाख का बिल कैसे आता। बिल देखते ही वो हका बका रहा गया। पड़ोसियों ने बताया कि यह जोधपुर विधुत वितरण निगम की लापरवाही से हुआ होगा। मामला यह है कि दो माह का लाखों में घरेलू बिजली बिल देखकर उपभोक्ता के होश उड़ गए। मनमानी ने की परेशानी बिजली उपभोक्ताओं के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है. धानसा निवासी देशाराम पुत्र मसराराम मेगवाल के घर जोधपुर विद्युत निगम ने दो माह के घरेलू बिल पर एक लाख इकरानवे हजार दो सौ चोदह रुपए की राशि चढ़ा कर भेज दी। बिजली विभाग के अधिकारियों से जब उपभोक्ता ने बात की तो अधिकारियों ने पहले बिल भरने को कहा गया बाद में कम किया जाएगा। मजदूर उपभोक्ता लाखो रुपय कहा से लाकर बिल भरे। उपभोक्ता लाखो का बिल भरने में असमर्थ है। इतनी राशि कहा से लाये। हालांकि ऐसा पहली बार किसी उपभोक्ता के साथ नहीं हुआ है, बल्कि दर्जनों उपभोक्ताओं के घरेलू व कृषि कनेक्शनों का बिल बगैर रीडिंग देखे ही थमा दिया जाता है। पिछले दिनों रानीवाड़ा क्षेत्र में उपभोक्ता को लाखों के बिल भेजकर उसे अस्पताल पुहूचा दिया था। जिले भर में बिजली बिलो में भरपूर गड़बड़िया सामने आ रही है। लोगो के मीटर सही है, फिर भी बावजूद औसत बिल भेज दिया जाता है। बिल सुधारने के लिए लोग परेशान हो रहे है। उपभोक्ताओं को बिल सुधरवाने के लिए रामसीन सहायक अभियन्ता कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते हैं. दफ़्तर में बैठ कर रहे है काम बिजली विभाग में बिलो को लेकर काफी समस्याएं सामने आ रही है। एक बात यह भी सामने आ रही है कि कर्मचारी बगैर रीडिंग किए ही दफ्तर में बैठे-बैठे ही उपभोक्ताओं को बिल थमा देते हैं। बिजली विभाग की समस्या के निराकरण हेतु मोदरान, सेरना, धानसा, बासड़ा धनजी आदि गाँवो को रामसीन जाना पड़ता है।

Leave a comment