सांथू में जल यात्रा से हुआ प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का भव्य आगाज

जागरूक टाइम्स 496 Feb 13, 2019

- सारणेश्वर महादेव मंदिर सांथु प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव

- संतों के सानिध्य में निकली शोभायात्रा

जालोर। सिर पर कलश धारण किए हुए बालिकाएं, साधु संतों का सानिध्य और सारणेश्वर महोदव के जयकारें। कमोबेश यही आध्यात्मिक माहौल था मंंगलवार को सांथू गांव में सारणेश्वर महादेव मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के तहत जलयात्रा का। सांथु गांव में मंगलवार को सारणेश्वर महादेव मंदिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का जलयात्रा के साथ भव्य शुभारंभ हुआ।

जलयात्रा में सैकड़ों की तादाद में बालिकाएं सिर पर कलश धारण किए हुए थी। पूरे गांव में महोत्सव के तहत आध्यात्मिक माहौल बन गया। शोभयात्रा के दौरान सारणेश्वर महोदव के जयकारें पूरे सांथू गांव में गूंज उठे। महोत्सव समिति के सदस्य और युवा कार्यकर्ताओं ने जलयात्रा में व्यवस्थाओं को संभाला। जलयात्रा में आसोतरा धाम के महंंत तुलसाराम महाराज, सारणेश्वर महादेव मंदिर सांथू के महंत रणछोड़पुरी महाराज, भैरूनाथ अखाड़े के आनंदनाथ महाराज, सारणेश्वर मठ सरत के नारायण स्वरूप महाराज, पुनासा मठ के महंत बाबूगिरी महाराज, गोल मठ के आशाभारती महाराज समेत कई साधु संत रथ में विराजमान थे।

जलयात्रा सुबह सारणेश्वर महादेव मंदिर सांथू के प्रांगण से रवाना हुई। बाद में गांव के मुख्य मार्गों और चोराहो से होते हुए शोभायात्रा का कारवां गुजरा। इस दौरान गांव में जगह-जगह शोभायात्रा को देखने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ा। प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव समिति की ओर से प्रतिष्ठा महोत्सव के विभिन्न आध्यात्मिक कार्य संपन्न करवाए जा रहे हैं,जिसमें भाविक लोग बढ़चढ़कर भूमिका निभा रहे हैं। इधर मंदिर प्रांगण में भी मंगलवार को धान्यादिवास, महादेव विशेष पूजन और भजन संध्या समेत कई धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन हुआ।

दुल्हन की तरह सजा है सांथू गांव
समारोह को लेकर पूरे गांव को दुल्हन की तरह सजाया गया है। प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव १२ फरवरी से १५ फरवरी तक आयोजित होगा। प्रतिष्ठा महोत्सव कमेटी ने तैयारियों को लेकर और धार्मिक कार्यों की कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियां सौंपी है। सारणेश्वर महादेव मंदिर के महंत रणछोड़पुरी महाराज के सान्निध्य में सांथू प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव आयोजक समिति के सदस्य प्रतिष्ठा कार्य में लगे हुए हैं।

आज होगा स्थापित देवता पूजन
1३ फरवरी को सुबह स्थापित देवता पूजन, महारुद्र हवन, वास्तु हवन, कुटिर हवन, शाम की पूजा, आरती और रात्रि में भजन संध्या, १४ फरवरी को पुष्पाधिवास, शांति पोष्टिक हवन, तत्व न्यास, दिक्षु हवन, मंदिर अभिषेक, पिण्डीकाधिवास और भजन संध्या, १५ फरवरी को प्राण प्रतिष्ठा, मूर्ति स्थापना, पूर्णाहुति, महाआरती, महाप्रसादी समेत कई धार्मिक कार्य संपन्न होंगे।

इन साधु संतों का रहेगा सानिध्य
प्रतिष्ठा महोत्सव में ब्रह्मचारी शंकरस्वरूप महाराज सारणेश्वर महादेव मंदिर सरत, संत तुलसाराम महाराज ब्रह्मसावित्री पीठ आसोतरा, आशाभारती महाराज गोल मठ, गंगानाथ महाराज भैरूनाथ अखाड़ा जालोर, रणछोडभारती महाराज लेटा भैसवाड़ा मठ, दत्तशरणानंद महाराज गोधाम पथमेड़ा, बाबूगिरी महाराज पूनासा मठ, महेन्द्रभारती महाराज जागनाथ मठ, कैलाशनाथ महाराज पलासनी मठ, जोधपुर, महंत दयाराम महाराज शिकारपुरा, हरिपुरी महाराज हेमशाही कवला मठ, रामानंद महाराज आत्मानंद धाम जालोर, दण्डी स्वामी देवानंद सरस्वती महाराज, रानेश्वर महादेव मंदिर कालन्द्री, प्रेमभारती महाराज गाजीपुरा मठ, लेहरभारती महाराज बडगांव मठ, काशीनाथ महाराज करड़ा मठ, निर्मलनाथ महाराज, राजशाही कदली मठ, मेंगलोर, पर्बतगिरी महाराज सुरेश्वर मठ पांडगरा, प्रतापपुरी महाराज तारातरा मठ, चौहटन, नारायणगिरी महाराज, दुधेश्वर पीठाधीश्वर गाजीयाबाद, निर्मलदास महाराज, महामण्डलेश्वर कबीर आश्रम बालोतरा, देवगिरी महाराज भालणी मठ, सत्यानंद महाराज रविधाम गुजरात, रामपुरी महाराज नून, मोहननाथ महाराज थावला अजमेर, विक्रमनाथ महाराज सोनाणा खेतलाजी धाम समेत कई साधु संतों का सान्निध्य रहेगा।






Leave a comment